पीछे मुड़कर देखने व अफसोस करने की जरूरत नहीं है क्योंकि ज़िंदगी में कभी भी कुछ भी पीछे नहीं छूटता। न खुशियां, न अवसर, न चुनौतियां। वे भेष बदलकर सामने आती रहती हैं। देखिए तो सही, पहचानिए तो सही।और भीऔर भी

कैल्स रिफाइनरी में कल बीएसई के बी ग्रुप में सबसे ज्यादा शेयरों का कारोबार हुआ। महज 3525 सौदों में उसके करीब 3.45 करोड़ शेयरों का लेन-देन हुआ। और, यह सिलसिला अभी से नहीं, हफ्तों से चल रहा है। पिछले दो हफ्ते में हर दिन औसतन उसके 3.92 करोड शेयरों के सौदे हुए हैं। चौंकिए मत, इसके 1 रुपए अंकित मूल्य के शेयर का भाव है 33 पैसे, जी हां मात्र 33 पैसे। आप कहेंगे कि बड़ी घटियाऔरऔर भी

दुनिया की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक का कोई इरादा अभी शुरुआती पब्लिक ऑफर (आईपीओ) लाने का नहीं है। फेसबुक के संस्थापक और सीईओ मार्क ज्यूकेरबर्ग ने अमेरिका के कैलिफोर्निया प्रांत के समुद्र तटीय शहर पालोस वर्डेस में समाचार एजेंसी रायटर्स से गुरुवार को एक इंटरव्यू में यह बात कही। ज्यूकेरबर्ग से जब पूछा गया कि क्या कंपनी के पब्लिक हो जाने के बाद वे उसके सीईओ बने रहेंगे तो उनका कहना था कि वे पब्लिकऔरऔर भी

सहारा समूह की जिस कंपनी, सहारा इंडिया फाइनेंशियल कॉरपोरेशन लिमिटेड (एसआईएफसीएल) ने अगले साढ़े तीन सालों के लिए भारतीय क्रिकेट टीम की स्पांसरशिप ली है, उसे डिपॉजिट लेने का सारा धंधा 30 जून 2011 तक समेट लेना होगा और 30 जून 2015 तक उसे जमाकर्ताओं से ली गई एक-एक पाई लौटा देनी होगी। यह वह अंतिम आदेश है जो भारतीय रिजर्व बैंक ने सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद 17 जून 2008 को जारी किया था। इसऔरऔर भी

बीएसई के बी ग्रुप की कंपनी स्टाइलम इंडस्ट्रीज का शेयर सुबह-सुबह 4.74 फीसदी बढ़कर 42 रुपए पर पहुंच गया। इसमें सर्किट लिमिट ऊपर में 48.10 रुपए की है। कंपनी ने वित्त वर्ष 2009-10 में 64.79 करोड़ रुपए की आय पर 4.37 करोड़ का कर-पूर्व लाभ और 3 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया है। उसकी प्रति शेयर कमाई (ईपीएस) अभी 4.10 रुपए है। कंपनी ने इस साल कुल 15 फीसदी लाभांश दिया है। रिसर्च के आधार परऔरऔर भी

भारत अब कृषि-प्रधान देश नहीं रहा। आजादी के बाद पहली बार ऐसा हुआ है कि देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में कृषि क्षेत्र का योगदान मैन्यूफैक्चरिंग से कम है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक 2009-10 के जीडीपी में मैन्यूफैक्चरिंग क्षेत्र का योगदान 7,19,975 करोड़ रुपए (16.1%) है, जबकि कृषि, वानिकी व फिशिंग का योगदान 6,51,901 करोड़ रुपए (14.6%) है। लेकिन उद्योग के बढ़ने के बावजूद वहां रोजगार के अवसर नहीं बढ़े हैं। कृषि पर निर्भर आबादी 70औरऔर भी

हम लेना ही लेना चाहते हैं, देना नहीं चाहते। यह आदिम सोच है। सामाजिक निर्भरता के युग में दूसरों को देने से ही खुद को मिलता है। कारोबार का मंत्र भी यही है। दूसरे को आपसे कुछ मिलेगा, तभी तो वह आपको देगा।और भीऔर भी

गूगल इंडिया ने भारत में ऑनलाइन शॉपिंग को लोकप्रिय बनाने के लिए नई पहल की है। इस सिलसिले की शुरुआत उसने राजस्थान की है और तय किया है कि वह अपने पोर्टल गूगल सर्च पर राजस्थान के उद्यमियों को मुफ्त समर्थन व विज्ञापन की सुविधा देगा। जयपुर में बुधवार को संवाददाताओं से बात करते हुए गूगल इंडिया के ऑनलाइन सेल्स प्रमुख श्रीधर शेषाद्री ने कहा कि हम उद्यमियों को ऑनलाइन विज्ञापन अभियान बनाने में विशेषज्ञों की मददऔरऔर भी

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने टीडीएस (स्रोत पर कर कटौती या टैक्स डिडक्टेड एट सोर्स) के सर्टिफिकेट से लेकर उसके जमा करने के तरीके और निर्धारित तारीखों में बदलाव कर दिया है। ये बदलाव चालू वित्त वर्ष की शुरुआत यानी 1 अप्रैल 2010 के बाद से लागू किए गए हैं। एक अहम बदलाव तो यह है कि पहले जहां वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही में काटे गए टीडीएस का रिटर्न 15 जून तक देना होता था,औरऔर भी

इधर डॉलर-रुपए की विनिमय दर में तेजी से आ रहे बदलाव के कारण निवेशकों की दिलचस्पी निफ्टी फ्यूचर्स से ज्यादा डॉलर-रुपए के फ्यूचर सौदों में हो गई है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के आंकड़ों के मुताबिक बुधवार, 2 जून को जहां निफ्टी फ्यूचर्स के 21,20,279 कांट्रैक्ट हुए हैं, वहीं डॉलर-रुपए के फ्यूचर्स में हुए कांट्रैक्ट की संख्या 32,83,341 है। इस तरह बुधवार को निफ्टी फ्यूचर्स की बनिस्बत करीब डेढ़ गुना सौदे विदेशी मुद्रा बाजार में एक्सचेंज परऔरऔर भी