जब उतर जाता है शेयरों का आवेश

शिवालिक बाईमेटल, राठी बार्स, त्रिवेणी ग्लास, क्विंटेग्रा सोल्यूशंस, सूर्यचक्र पावर, एचसीसी और रोमान टारमैट ऐसे कुछ स्टॉक्स हैं जिनकी चर्चा इस कॉलम में साल भर के दौरान बार-बार हुई है। किसी न किसी आधार पर इनमें अच्छी बढ़त का अनुमान पेश किया गया था। लेकिन बताए जाने के बाद से इनमें से कई शेयरों के भाव 40-50 फीसदी तक गिर चुके हैं। आप में से कई लोगों ने इस बाबत अपनी शंकाएं और सवाल भी पेश किए हैं। जैसे, दीपक लिखते हैं – मैंने आपके कहने पर क्विंटेग्रा सोल्यूशंस के के 5000 शेयर दीवाली के आसपास लगभग 10 रुपए के भाव पर खरीदे। आपने इसे और त्रिवेणी ग्लास को दीवाली का स्टॉक बताया था। अभी ये दोनों ही घटकर एक तिहाई या आधे भाव पर आ गए हैं। मैं क्या करूं?

आपको बता दूं कि चक्री महोदय बहुत व्यस्त रहते हैं। मैंने उन तक आप लोगों के ऐसे तमाम सवाल पहुंचाए तो उन्होंने जो जवाब दिया, उसे मैं आप तक पहुंचा रहा हूं। त्रिवेणी ग्लास के बारे में उनका कहना है कि इसमें जमीन का मसला था जो अब लटक गया लगता है। इसलिए इसे बेच दिया जाना चाहिए। नोट करने की बात यह है कि 30 सितंबर 2010 को त्रिवेणी ग्लास 18.30 रुपए पर था। अब गिरते-गिरते 8.66 रुपए पर आ चुका है। क्विंटेग्रा सोल्यूशंस के बारे में चक्री का कहना है कि बीएसई ने इसे ट्रेड टू ट्रेड श्रेणी में डाल दिया है। इसलिए इनकी दुर्गति होती जा रही है। इसमें बस हालात बदलने का इंतजार ही किया जा सकता है। यह शेयर यहां जिक्र किए जाने के बाद 29 अक्टूबर 2010 को 17.75 रुपए तक चला गया था। लेकिन अब 3.34 रुपए पर है।

सूर्यचक्र पावर के बारे में बीते साल सितंबर के आखिरी हफ्ते में कहा गया था कि सब कुछ निकालकर इसे ले लें और यह आपके रिटायरमेंट का सहारा बन सकता है। बहुत से पाठकों ने विश्वास के साथ इसे खरीदा और अब भी विश्वास के साथ इसमें बने हुए हैं। हालांकि 1 अक्टूबर 2010 को 22.65 रुपए के शिखर पर पहुंचने के बाद यह शेयर 11 फरवरी 2011 को 10.75 रुपए तक गिर गया। फिलहाल 12.10 रुपए पर है। चक्री महाशय का कहना है कि सूर्यचक्र पावर अच्छी कंपनी है। इसकी सब्सिडयरी में राकेश झुनझुनवाला ने निवेश कर रखा है। ऑपरेटर बाजार के हालात के साथ खेलते हैं। उन्होंने इसे दबा रखा है। फिलहाल इसे होल्ड रखना चाहिए।

आठ-नौ महीने जब हिंदुस्तान कंस्ट्रक्शन कंपनी (एचसीसी) में निवेश की सलाह दी गई थी तब इसके सितारे बुलंद थे और लवासा कॉरपोरेशन के आईपीओ की चर्चाएं थीं। इसका शेयर उस वक्त 70 रुपए के आसपास था। अब 31.40 रुपए पर है, वह भी तब जब शुक्रवार 27 मई को इसमें 7.17 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है। चक्री की सलाह है कि यह दीर्घकालिक निवेश के लिए है। कुछ राजनीतिक वजहों से इसे दबाया जा रहा है। इसे मौजूदा भाव पर खरीद कर अपनी औसत लागत कम कर लेनी चाहिए।

रोमान टारमैट के बारे में पिछले महीने कहा गया था कि महीने भर के भीतर 40 रुपए से 60 रुपए पर पहुंच जाएगा। लेकिन अभी यह करीब 32 फीसदी गिरकर 28.50 रुपए पर आ चुका है। चक्री का कहना है कि यह है तो अच्छी कंपनी। लेकिन क्या करें ट्रेड फॉर ट्रेड का शिकार हो गई। यह स्टॉक फिलहाल टी ग्रुप में डला हुआ है और इसमें केवल डिलीवरी आधारित सौदे ही किए जा सकते हैं।

अब बचे हमारी सूची के दो शेयर। शिवालिक बाईमेटल और राठी बार्स। इनमें बढ़ने की अद्भुत संभावनाएं करीब साल भर पहले यहां बताई गई थी। लेकिन इस दौरान शिवालिक बाईमेटल 35 फीसदी और राठी बार्स 50 फीसदी के आसपास गिर चुका है। शिवालिक बाईमेटल 6 अप्रैल 2010 को 28.45 रुपए पर था। 16 जून 2010 को 40.35 रुपए तक चला गया। लेकिन उसके बाद गिरते-गिरते अब 18.75 रुपए पर आ चुका है। शुक्रवार, 27 मई को ही इसमें 6.25 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। राठी बार्स 21 मई 2010 को 15.50 रुपए पर था। उसके हफ्ते भर बाद 28 मई 2010 को यह 22.70 रुपए पर चला गया था। लेकिन साल भर बाद अब यह 8.02 रुपए पर है। चक्री का कहना है कि राठी बार्स के भाव बाजार के हालात के चलते नीचे आए हैं, जबकि शिवालिक गिरावट के बावजूद इस उद्योग के अन्य स्टॉक्स से बेहतर है। इसलिए इन दोनों को ही होल्ड किया जाना चाहिए।

चक्री की तरफ से कही बातें आपने पढ़ लीं। अब मेरी भी सुन लीजिए। एक तो यह स्थापित बात गांठ बांध लें कि सुनें सबकी, करें अपनी। दूसरे, कभी लालच में न आएं। तीसरे, ऐसे दीपकों के चक्कर में न पड़े तो फफक कर अचानक बुझ जाते हैं। चौथी और आखिरी बात यह कि निवेश की सलाह चक्री की हो या मेरी या किसी अन्य की, पहले जाकर उस कंपनी के फंडामेंटल्स को अच्छी तरह ठोंक-बजाकर देख लें। तात्कालिक खबरों या कयासों पर मत जाएं। अक्सर इनके पीछे किसी न किसी का कोई स्वार्थ काम कर रहा होता है। आवेश में आनेवाले शेयरों से दूर रहे क्योंकि आवेश जितनी जोर से उठता है, उतनी ही जोर से गिरकर ठंडा भी हो जाता है। बाकी, पैसा आपका, बचत आपकी तो मर्जी भी आपकी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.