इतना रिटर्न दूसरा दे तो करेंगे बंदगी!

बाज़ार में ईद की छुट्टी है तो सोचा कि चलते-चलते इस साल के छह महीने की समीक्षा कर ली जाए। ट्रेडिंग सलाह सेवा अल्पकालिक है और अलग-अलग लोगों के रेस्पांस पर निर्भर है। इसलिए उसकी वस्तुपरक समीक्षा संभव नहीं। लेकिन दीर्घकालिक निवेश की सेवा, तथास्तु की समीक्षा की जा सकती है। कमाल की बात है कि 5 जनवरी से 22 जून तक प्रस्तुत 25 में से 22 कंपनियों के शेयर बढ़े हैं। 88% का जबरदस्त स्ट्राइक रेट…

आपको याद होगा कि इससे पहले हमने साल 2013 के आखिरी शनिवार, 28 दिसंबर को भी इसी तरह की समीक्षा पेश की थी। यदृच्छया चुनी गई 25 कंपनियों में औसत रिटर्न 25 प्रतिशत का था, जबकि अधिकतम रिटर्न था 112.50 प्रतिशत। इसके बाद जून 2014 तक के छह महीनों में भी वही किस्सा दोहराया गया है। अधिकतम 114.91 प्रतिशत रिटर्न दिया है केवल बीएसई में लिस्टेड कंपनी एक्रीसिल लिमिटेड ने। बाकी आप इस टेबल से खुद देख सकते हैं कि सात कंपनियों ने दो से चार साल का लक्ष्य चंद महीनों में भी पूरा कर लिया। 25 में से 15 कंपनियों ने छह महीने में 15 प्रतिशत से ज्यादा रिटर्न दिया है जिसको सालाना में बदल दें तो 30 प्रतिशत की दर निकलती है।

क्रम तथास्तु की तिथि कंपनी का नाम तब का प्रवेश लक्षित 52 हफ्ते का भाव 29/7/14 रिटर्न
साल 2014 भाव भाव भाव उच्चतम/न्यूनतम का भाव (%)
1 5 जनवरी टेक सोल्यूशंस 34.75 32 85 (3साल) 42/27.50 33.15 3.59
2 12 जनवरी टीआईएल 140 140 450 (4साल) 451.50/83 408.50 91.79
3 19 जनवरी इनफिनिट कंप्यूटर 154.75 125 235 (4साल) 169.80/83.65 144.50 15.60
4 26 जनवरी एसबीआई 1621.20 1615 2900 (3साल) 2834.9/1452.7 2489.65 54.16
5 2 फरवरी टाटा ग्लोबल 141 118 205 (3साल) 177.15/130.95 155.20 31.53
6 9 फरवरी सविता ऑयल 405.40 405 1000 (4साल) 894/330 702.75 73.52
7 16 फरवरी रेप्को होम फाइनेंस 309 309 551 (4साल) 515/201 437.40 41.55
8 23 फरवरी एक्रीसिल लिमिटेड 176.95 175 242 (2साल) 433/90 376.10 114.91
9 2 मार्च एक्साइड इंडस्ट्रीज़ 110.75 105 158 (2साल) 169.95/99 162.60 54.86
10 9 मार्च नर्मदा जिलेटिन्स 140 138 232 (2साल) 270/104 244.95 77.50
11 16 मार्च एक्सेल्या काले 692.50 690 980 (4साल) 835.50/521 708.95 2.75
12 23 मार्च गोदरेज कंज्यूमर 763.80 710 932.50 (2साल) 968.15/667 868.80 22.37
13 30 मार्च कैयर्न इंडिया 330.80 330 415 (2साल) 386/286.85 314.75 -4.62
14 6 अप्रैल संदूर मैंगनीज़ 559.55 550 765 (2साल) 834/429 593.60 7.93
15 13 अप्रैल जीआईपीसीएल 69.95 70 124 (2साल) 106.50/53 89.55 27.93
16 20 अप्रैल जीएसएफसी 56 55 96 (3साल) 88.50/43.55 76.25 38.64
17 27 अप्रैल आरती इंडस्ट्रीज़ 137.40 125 225 (3साल) 244.50/64 214.95 71.96
18 4 मई सिंटेक्स इंडस्ट्रीज़ 45.70 45 96 (3साल) 105.25/16.80 87.85 95.22
19 11 मई इनफोसिस लिमिटेड 3111.15 3105 4725 (3साल) 3849.95/2880 3371.10 8.57
20 18 मई स्पेशयलिटी रेस्टोरेंट्स 140.45 110 260 (4साल) 165/101.30 146.50 33.18
21 25 मई पिपावाव डिफेंस 55.95 47 98 (3साल) 73.95/30.85 52.70 12.13
22 1 जून आईडीएफसी 126.30 125 285 (4साल) 166.65/76.10 153.65 22.92
23 8 जून इन्नोवेन्टिव इंडस्ट्रीज़ 17.65 17.5 115 (4साल) 48.35/9.35 18.50 5.71
24 15 जून बजाज कॉर्प 233.65 232 315 (2साल) 282/178.90 230.15 -0.79
25 22 जून टीटागढ़ वैगन्स 314.05 305 655 (3साल) 338.90/69.95 207.50 -31.97
बढ़नेवाले शेयर (22/25) घटनेवाले शेयर (3/25) अधिकतम/न्यूनतम रिटर्न (114.19/2.75%) अधिकतम/न्यूतनम नुकसान (-31.97/-0.79%)

 

आप ही बताएं कि उद्योग में कौन है जो इतना रिटर्न दे सकता है। हिंदी क्या, अंग्रेज़ी की भी किसी सेवा का नाम बता दें तो अर्थकाम उसका गुलाम बन जाएगा और हम ताज़िंदगी उसकी बंदगी करेंगे। हांकने और उल्लू बनाने को बहुतेरे हैं जो ऐसी सेवा का महीने में 25,000 रुपए तक लेते हैं। लेकिन हम महीने के मात्र 200 रुपए और साल के सिर्फ 2000 रुपए में लंबे निवेश की यह सेवा उपलब्ध करा रहे हैं, वो भी हर रविवार को एक संभावनामय कंपनी पेश करके। हम चुनने का भरपूर विकल्प आपके सामने पेश करते हैं।

जहां जितना रिस्क है, उतना साफ-साफ बताते हैं। जैसे, ऊपर दी गई 25 कंपनियों की सूची में आप पाएंगे कि टीटागढ़ वैगन्स में केवल एक महीने के भीतर 31.97 प्रतिशत का नुकसान हुआ है। लेकिन उसके साथ हमने क्या लिखा था, ज़रा इस पर गौर कर लीजिए: “मार्च 2014 में समाप्त वित्त वर्ष 2013-14 में समेकित रूप से 624.11 करोड़ रुपए की कुल आय पर उसे 10.49 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा हुआ है, जबकि साल भर पहले 2012-13 में उसे 782.35 करोड़ रुपए की आय पर 22.44 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ था। ऐसी हालत में क्या इस कंपनी में निवेश किया जाना चाहिए?हमारा मानना है कि जो कम से कम तीन साल का नज़रिया रखते हैं, वे इसमें निवेश कर सकते हैं।… इसमें आप अपने निवेश पोर्टफोलियो का अधिकतम 2-3 प्रतिशत हिस्सा ही लगा सकते हैं। वैसे, कंपनी के चमकने की संभावनाएं मोदी सरकार ने बढ़ा दी है। फिर भी इसके निवेश के रिस्क से इनकार नहीं किया जा सकता।”

कोई नहीं बताता कि किस कंपनी में अपनी निवेशयोग्य राशि का कितना हिस्सा लगाएं। कंपनी के प्रोफाइल और अपने खुद के रिस्क प्रोफाइल को देखते हुए कंपनी के कितने शेयर खरीदने चाहिए, यह कोई नहीं बताता। केवल हम बताते हैं। ऐसे में आपसे यही गुजारिश है कि व्यापक हिंदी समाज को लक्षित कर चलाई जा रही इस सेवा को व्यापक बनाने में मदद करें। 200 रुपए महीने की इस सेवा को अगर साल भर में दस हजार लोगों तक पहुंचा दिया जाए तो कम से कम 20 लोगों को अर्थकाम सार्थक रोजगार दे सकता है।

अभी बस इतना ही। तथास्तु! ताकि आपका धन फले-फूले…

Leave a Reply

Your email address will not be published.