इंडियन ऑयल: स्विंग ट्रेड से फायदा

अगले दो हफ्ते तक बाजार में कमोबेश शांति का दौर चलेगा। इस दौरान बाजार जमने की कोशिश करेगा। बजट के दिन जितना वो नीचे चला गया था, शायद उससे नीचे अब नहीं जाएगा। बाज़ार का यूं गिरना निवेशकों के लिए अच्छा मौका है। विदेशी निवेशक मॉरीशस के पते पर सरकार की सफाई के बाद फिर से खरीदारी करने लगे हैं। बजट के दिन उन्होंने शुद्ध रूप से 1274.60 करोड़ रुपए के शेयर बेचे थे, वहीं शुक्रवार को उनकी शुद्ध खरीद 626.89 करोड़ रुपए की रही।

निफ्टी की गति

पिछला बंद शुक्र का उच्चतम शुक्र का न्यूनतम शुक्र का बंद समर्थन/बाधा
5693.05 5739.45 5679.90 5719.70 5720/5845

इंडियन ऑयल देश में पेट्रोल व डीजल जैसे खनिज तेलों की सबसे बड़ी मार्केटिंग कंपनी है। उसका दस रुपए का शेयर शुक्रवार को बीएसई में 2.03 फीसदी बढ़कर 298.80 रुपए और एनएसई में 2.10 फीसदी बढ़कर 298.85 रुपए पर बंद हुआ है। शुक्रवार तक पांच दिनों के भीतर यह 314 रुपए तक जा सकता है। इस तरह स्विंग ट्रेडिंग से इसमें 5 फीसदी कमाने की गुंजाइश है। लेकिन 288 रुपए पर स्टॉप लॉस लगाकर चलें।

इंडियन ऑयल (बीएसई 530965, एनएसई – IOC)

कल का बंद भाव 52 हफ्ते का उच्चतम 52 हफ्ते का न्यूनतम भावी उम्मीद अपेक्षित रिटर्न
298.80 रुपए 375 रुपए 239 रुपए 314 रुपए +5.08%

(भाव बीएसई के)

डिस्क्लेमर: शेयर बाजार के निवेश में सबसे ज्यादा रिस्क है। इसलिए निवेश का फैसला पूरी रिसर्च के बाद ही करें। आपके निवेश के लिए हम किसी भी रूप में जिम्मेदार नहीं होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.