देखा है ब्रोकरों का बूचड़खाना!

आपको 8000 अंक पर 15,000 के लक्ष्य के साथ खरीद की कॉल, इसके बाद फिर 15,000 अंक पर 20,000 के लक्ष्य के साथ खरीद की कॉल और फिर इसके बाद जब धन का प्रवाह अलग रंग दिखा रहा हो तब बिक्री की कॉल देने के लिए बड़ा कलेजा और बूता चाहिए। कलेजे के साथ आपको अपने ऊपर भरोसा व विश्वास होना चाहिए। साथ ही साथ इसके लिए बाजार की समझ भी जरूरी है।

ब्रोकरों को तो हमेशा आपकी जेब से मतलब होता है और उनके यहां से निकली बातें रिसर्च पर आधारित नहीं मानी जा सकतीं। ऐसा ही कुछ हुआ जो बहुत से लोग 80-90 रुपए पर आईडीबीआई बैंक का महत्व नहीं समझ सके। अब इस पर तमाम रिपोर्ट आ रही हैं क्योंकि आईडीबीआई में बिग बी (राकेश झुनझुनवाला) की एंट्री हो चुकी है। यही हाल आईएफसीआई का रहा है। एक समय इसे 20 रुपए पर वाहियात स्टॉक माना जा रहा था। लेकिन यह 40, 50 और 60 रुपए से होता हुआ अब नई चमक से भर गया है। सब इसकी तारीफ कर रहे हैं क्योंकि बिग बी से लेकर कई फंड इसमें हाथ डाल चुके हैं।

यह बातें नई नहीं है। लेकिन खिलाड़ी सही वक्त पहचान कर वार करते हैं और कुछ गलत हो जाए तो उसे संभालने की ताकत भी उनमें है। ब्रोकर लोग तो दूसरे की रिपोर्ट देखकर अपनी रिपोर्ट तैयार या जारी करते हैं। या, फिर टेक्निकल रिपोर्टों के आधार पर बाजार के रुख का अंदाजा लगाते हैं जो कतई वैज्ञानिक नहीं हैं और किंतु-परंतु से भरी रहती हैं। जब तक धन आता रहता है तब तक उनके लिए सब चंगा है। वे अपने क्लाएंट का स्वागत करते हुए उन्हें बूचड़खाने में धकेल देते हैं। धन का प्रवाह रुक गया तो चौकीदार से सबको बाहर निकलवा देते हैं। लेकिन इस दौरान उनके ग्राहकों की जेब में भारी सुराख हो चुका होता है और सब त्राहि-त्राहि करने लगते हैं।

सीएनआई का तरीका एकदम अलग है। हम अपनी रिसर्च पर भरोसा करते हैं। हमने इस रिसर्च के पर्याप्त सैंपल आपको दिखा दिए हैं जिनसे पता चलता है कि बाजार किस दिशा में जा रहा है। हमारी रिसर्ट टीम बहुत सफलता से चल रही है क्योंकि वह फंडामेंटल और खुद खोजी गई हकीकत पर यकीन करती है। खैर, अभी तो हालत यह है कि बहुत से लोगों को पक्का नहीं है कि बाजार किधर जा रहा है।

फंड के भारी प्रवाह के बावजूद हम निफ्टी के 6220 के स्तर पर बेचने की सलाह पर टिके रहे और ऐसा ही हुआ। प्लेटिनम ने कल सिटी के जरिए 600 करोड़ रुपए के स्टॉक्स बेच डाले और नतीजा सामने है। ये दो दिन उन एचएनआई (हाई नेटवर्थ इंडीविजुअल) व रिटेल निवेशकों के लिए काफी नुकसानदेह रहे हैं जिन्होंने उधार लेकर पैसे लगाए थे। उनकी हालत काफी डांवाडोल हो गई है। वे अपना भरोसा खोकर शॉर्ट करने लगे। इससे तेजड़ियों को भी परेशानी हुई है।

बाजार की लय को तोड़ना इसका आसान नहीं है, जब तक कि आपके पास विश्व स्तर पर बहुत मजूबत कारण न हों और ऐसा कुछ फिलहाल नजर नहीं आ रहा। ट्रेडरों का चक्कर देने के लिए केवल उतार-चढ़ाव की जरूरत थी क्योंकि वे भारी उधारी पर बढ़-चढ़ कर दांव लगा रहे थे।

रीयल्टी सेक्टर को रोकना संभव नहीं है। अगले एक-दो सालों में इस सेक्टर के स्टॉक्स में पांच गुना बढ़त हो सकती है। मेरी तो यह पक्की राय है, भले ही आप मानें या न मानें। यह सेक्टर शॉर्ट सेलिंग करनेवालों का पसंदीदा क्षेत्र बना हुआ है क्योंकि भारी तरलता के बीच यह शॉर्ट सौदों से फटाफट नोट बनाने का मौका देता है। यही अब शुरू होनेवाला है क्योंकि शॉर्ट सौदे खड़े होना शुरू हो गए हैं। सेसा गोवा, एनएमडीसी और बकासुर (मतलब बालासोर) के अलावा रिलायंस कम्युनिकेशंस भी निवेश के लिए अच्छा दांव है।

हर गिनी जानेवाली चीज का मतलब हो, यह जरूरी नहीं और हर मतलब वाली चीज गिनी जा सके, यह भी जरूरी नहीं।

(चमत्कार चक्री एक अनाम शख्सियत है। वह बाजार की रग-रग से वाकिफ हैलेकिन फालतू के कानूनी लफड़ों में नहीं उलझना चाहता। सलाह देना उसका काम है। लेकिन निवेश का निर्णय पूरी तरह आपका होगा और चक्री या अर्थकाम किसी भी सूरत में इसके लिए जिम्मेदार नहीं होगा। यह कॉलम मूलत: सीएनआई रिसर्च से लिया जा रहा है)

4 Comments

  1. ANIL BHAI, MAINE JINDAL SOUTH WEST HOLDINGS ME PHIR BUY KAR LIYA HAI, HOLD KAREN NAAAA? AUR TATA STEEL KO Rs.622 PAR SOLD KAR DIYA, TATA STEEL ME KARIB 30% KA PROFIT HUA.
    AAB TATA STEEL KA PAISA KISME LAGAOON? KYA HCC ME AUR PURCHASE KAR LOON YA SESA GOA ME INVEST KAROON. PLZ MAIL ME.
    YOURS
    PARSHURAM

  2. Just concentrate on Kinetic Motors as big Daddy has reportedly entered with a target of Rs 65/- or so as volume are surging on day to day basis.

  3. i buy balasore rs 40 qut.2000 short term investment give me tagret

  4. I BUY HCC @ Rs. 67 QUANTITY 1000 FOR FIVE TO SIX MONTHS , WHAT SHOULD BE THE TARGET. AND ALSO BUY JINDAL SOUTH WEST HOLDINGS FOR FIVE TO SIX MONTHS. PLEASE GIVE ME TARGET BY MAIL.
    YOURS
    PARSHURAM

Leave a Reply

Your email address will not be published.