बैंक फौरन नहीं बढ़ाएंगे कर्ज पर ब्याज दर

बैंकों के प्रमुखों का कहना है कि रिजर्व बैंक ने मुद्रास्फीति पर शिकंजा कसने के लिए अल्पकालिक दरों में जो 0.25 फीसदी की वृद्धि की है, उससे होम, ऑटो और कंपनी ऋण पर ब्याज दरों में तत्काल वृद्धि नहीं होगी।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के कार्यकारी निदेशक एस सी कालिया ने कहा कि नीतिगत दर में वृद्धि ब्याज दरों में इजाफे का संकेत है लेकिन बैंक जल्दबाजी में दरों में कोई वृद्धि नहीं करेगा। उन्होंने कहा, ‘‘ब्याज दरों में तत्काल वृद्धि नहीं होगी लेकिन ब्याज दरों में बढ़ोतरी का रूख है।’’ रिजर्व बैंक ने रेपो और रिवर्स रेपो दोनों में 0.25 फीसद की वृद्धि की है। नई दरें तत्काल प्रभाव से लागू हो गयी है। इस वृद्धि के बाद रेपो जहां 6.5 फीसदी हो गई वहीं रिवर्स रेपो 5.5 फीसदी पर पहुंच गयी।

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के कार्यकारी निदेशक एस सी सिन्हा ने कहा, ‘‘नीतिगत दरों में वृद्धि से ब्याज दरों में तत्काल कोई वृद्धि नहीं होगी क्योंकि उच्च मुद्रास्फीति को देखते हुए बाजार पहले से ही इसकी अपेक्षा कर रहा था।’’ बहरहाल, सिन्हा ने कहा कि अगर ऋण उठाव में वृद्धि होती है तो बैंक अपनी ब्याज दरों में वृद्धि कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.