अभी तो है हमें करेक्शन का इंतज़ार

निफ्टी सुबह के सत्र में 200 दिनों के मूविंग औसत (डीएमए) को पार नहीं कर पाया तो अधिकांश ट्रेडर शॉर्ट हो गए। लेकिन दो बजते-बजते बाजार ने कल जैसी चाल दिखानी शुरू कर दी और बहुत तेजी से कल के उच्च स्तर को मात देता हुआ 5244.60 तक बढ़ गया। आखिर में 0.70 फीसदी की बढ़त से साथ 5235.70 पर बंद हुआ है। इस बढ़त में ट्रेडरों के रुख बदलने का भी योगदान रहा क्योंकि ढाई बजे के आसपास उन्होंने अपने शॉर्ट सौदे काटकर लांग पोजिशन पकड़ ली। समझदार निवेशकों ने इस मौके का फायदा अपने लांग सौदों को घटाने में इस्तेमाल किया। फरवरी के निफ्टी फ्यूचर्स का अंतिम भाव आज 5269.75 रहा।

फिलहाल निफ्टी 200 डीएमए, 5198.22 को पार कर चुका है। इसलिए रुख बदलने के आसार पक्के हैं। लेकिन इसको कुछ दिन तक मजबूती से टिकना होगा। वैसे पहले हमें लगता था कि बाजार गिरकर 5035 तक चला जाएगा। लेकिन अब हमें उम्मीद है कि अगले दो सत्रों में यह बहुत गिरा तो 5080 से नीचे नही जाएगा। इसके बाद फिलहाल 5400 और फिर सितंबर तक 6400 की मंजिल हासिल करने में ज्यादा मुश्किल नहीं आएगी।

इस बीच हम लांग पोजिशन पकड़ने के लिए करेक्शन का इंतजार करेंगे और फिलहाल शॉर्ट का पक्ष ही पकड़ेंगे। इस दरम्यान हम एडुकॉम्प सोल्यूशंस, पोलारिस, टिमकेन व पिपावाव डिफेंस जैसे स्टॉक्स में ट्रेडिंग करना पसंद करेंगे। नैवेली लिग्नाइट में अब अच्छा वोल्यूम और भावों में ब्रेक आउट दिख रहा है। देशी-विदेशी फंड्स नैवेली लिग्नाइट को और खरीद रहे होंगे। फंड की खरीद बढ़ने पर इसमें पहला लक्ष्य 110 रुपए और फिर 130 रुपए का है। फिलहाल यह 91.85 रुपए पर चल रहा है।

फाइनेंशियल टेक्नोलॉजीज को हर बढ़त पर बेचते रहें और शॉर्ट सौदों को होल्ड करें। एक बार एमसीएक्स का पब्लिक इश्यू निकल गया, तब इस स्टॉक की औकात 400 रुपए भी नहीं बचेगी। एमसीएक्स का आईपीओ मई-जून से पहले आ जाना चाहिए। इसलिए उससे पहले फाइनेंशियल टेक्नोलॉजीज को बेचकर निकल लेने में भी भलाई है। आज यह 6.02 फीसदी बढ़कर 765.40 पर पहुंच गया।

बैंकिंग के शेयरों में थोड़ी मुनाफावसूली दिखी। लेकिन गिरते-गिरते वे संभल गए और अंत में बैंक निफ्टी 0.30 फीसदी की बढ़त लेकर 9949.10 पर बंद हुआ। आज बिजली क्षेत्र के स्टॉक्स में काफी तेजी नजर आई। वैसे, हैं तो ये लांग टर्म के लिए। लेकिन इन्हें फिलहाल ट्रेडिंग के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

भले ही किसी सवाल का हल न निकले, लेकिन उस पर बहस करना बेहतर है बनिस्बत इसके कि बिना किसी बहस के उसे सुलटा लिया जाए।

(चमत्कार चक्री एक अनाम शख्सियत है। वह बाजार की रग-रग से वाकिफ है। लेकिन फालतू के कानूनी लफड़ों में नहीं पड़ना चाहता। इसलिए अनाम है। वह अंदर की बातें आपके सामने रखता है। लेकिन उसमें बड़बोलापन हो सकता है। आपके निवेश फैसलों के लिए अर्थकाम किसी भी हाल में जिम्मेदार नहीं होगा। यह मूलत: सीएनआई रिसर्च का कॉलम है, जिसे हम यहां आपकी शिक्षा के लिए पेश कर रहे हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published.