स्प्रिंग जैसा दबा पड़ा है ओएनजीसी

बजट में अर्थव्यवस्था या निवेश संबंधी ऐसा कुछ नहीं था कि शेयर बाजार दोपहर तक ठीकठाक बढ़त के बाद यूं धड़ाम हो जाता। एक करोड़ रुपए से ज्यादा आमदनी वालों पर 10 फीसदी सरचार्ज लगाना कोई अनहोनी तो है नहीं। फिर भी निफ्टी 1.79 फीसदी की गिरावट के साथ 5693 पर पहुंच गया। असल में गिरावट की असली वजह है तथाकथित विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) की बिकवाली। बजट में प्रावधान है कि एफआईआई को टैक्स से बचने के लिए मॉरीशस जैसे देशों का निवास प्रमाणपत्र देना ही काफी नहीं है। उन्हें यह भी साबित करना पड़ेगा जो इस निवेश से कमा रहा है, वो शख्स वह ही है।

दिक्कत यह है कि तमाम अमीर भारतीय अपना ही धन एफआईआई के जरिए बाहर से लाकर भारतीय शेयर बाजार में लगाते हैं। हमारे शेयर बाजार में निवेश करनेवाले 40 फीसदी एफआईआई मॉरीशस के पते वाले हैं। बजट का प्रावधान लागू होने से एफआईआई का चोंगा ओढ़नेवाले भारतीयों को टैक्स-मुक्ति नहीं मिल पाएगी। इसलिए उन्होंने अपना जलवा दिखा गिया। वरना, दोपहर तक अच्छा-खासा चहक रहा बाज़ार शाम तक यूं डूब नहीं जाता। कल कैश सेगमेंट में एफआईआई ने शुद्ध रूप से 1317.79 करोड़ रुपए के शेयर बेचे, जबकि घरेलू संस्थाओं (डीआईआई) की शुद्ध खरीद 417.94 करोड़ रुपए की है।

आज के बारे में जानकारों की राय है कि निफ्टी अगर कल के न्यूनतम स्तर 5672 से नीचे नहीं जाता तो बहुत मुमकिन है कि वो फिर से 5850 तक चला जाएगा। वैसे तो कल के जलजले की धमक आज भी जारी रह सकती है। लेकिन कुल मिलाकर आसार बढ़त के ही हैं।

निफ्टी की गति

पिछला बंद कल का उच्चतम कल का न्यूनतम कल का बंद समर्थन/बाधा
5796.90 5849.90 5671.90 5693.05 5670/5810

जब हर तरफ आंधी-सी आई हुई थी, तब सरकारी कंपनी ओएनजीसी का शेयर अपनी जगह से ज्यादा नहीं हिला। कल उसका पांच रुपए का शेयर बीएसई में 0.59 फीसदी गिरकर 313.35 रुपए और एनएसई में 0.57 फीसदी गिरकर 313.45 रुपए पर बंद हुआ है। यह अगले पांच दिनों में 330 रुपए तक जा सकता है। इस तरह स्विंग ट्रेडिंग से इसमें पांच फीसदी से ज्यादा कमाया जा सकता है।

ओएनजीसी (बीएसई 500312, एनएसई – ONGC)

कल का बंद भाव 52 हफ्ते का उच्चतम 52 हफ्ते का न्यूनतम भावी उम्मीद अपेक्षित रिटर्न
313.35 रुपए 354.10 रुपए 240.10 रुपए 330 रुपए +5.31%

(भाव बीएसई के)

डिस्क्लेमर: शेयर बाजार के निवेश में सबसे ज्यादा रिस्क है। इसलिए निवेश का फैसला पूरी रिसर्च के बाद ही करें। आपके निवेश के लिए हम किसी भी रूप में जिम्मेदार नहीं होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.