धंधा कम बढ़ेगा, इस बात पे धुना गया इनफोसिस

ज्यादातर विश्लेषकों को उम्मीद थी कि इनफोसिस की आय नए वित्त वर्ष में डॉलर के लिहाज से 10 से 15 फीसदी बढ़ जाएगी। लेकिन कंपनी ने जब शुक्रवार को यूरोप व अमेरिका की सही हालत के हिसाब से घोषित किया कि उसकी आय 8 से 10 फीसदी बढ़कर 755 करोड़ डॉलर से 769 करोड़ डॉलर पर ही पहुंच पाएगी तो इनका शेयर इतना गिर गया, जितना मई 2009 के बाद से वह अब तक कभी नहीं गिरा था। 12.82 फीसदी का फटका लग गया शुक्रवार को इनफोसिस के शेयर को। हालांकि बाद में ज़रा-संभलकर गिरावट 12.61 फीसदी पर आ गई।

ऐसा तब हुआ, जब डॉलर में कंपनी की आय वित्त वर्ष 2011-12 में 15.8 फीसदी बढ़कर 699.4 करोड़ डॉलर और शुद्ध लाभ 14.5 फीसदी बढ़कर 171.6 करोड़ डॉलर हो गया है। लेकिन आगे के बारे में इनफोसिस के सीईओ व प्रबंध निदेशक एस डी शिबुलाल ने साफ-साफ कह दिया, “वैश्विक बाजारों में धीमे सुधार के मद्देनजर आगे का यह साल आईटी सेवा उद्योग के लिए चुनौतीपूर्ण लग रहा है। हम अपनी इनफोसिस 3.0 रणनीति लागू कर रह रहे हैं जिसका उद्देश्य मध्यम व लंबे काल में उच्चस्तरीय विकास हासिल करना है। हम निवेश कर रहे हैं और इस रणनीति पर अमल का तंत्र बना चुके हैं।”

लेकिन क्या कर रहे हैं, इसके बजाय हालात के निराशाजनक आकलन को निवेशकों ने पकड़ लिया और शेयर को धुन डाला। एचएसबीसी एसेट मैनेजमेंट के सीनियर फंड मैनेजर धीरज सचदेव का कहना था, “साफ है कि आईटी उद्योग के लिए तत्काल हालत सुधरती नहीं दिख रही है। अपेक्षा यही है कि माहौल चुनौतियों से भरा रहेगा। लेकिन एक बात हमें दिमाग में रखनी चाहिए कि यह पहली तिमाही है जब बजट तैयार किए जाते हैं। यह योजना बनाने का चरण है जिसमें आनेवाले महीनों में ज्यादा स्पष्टता आ सकती है।”

भारतीय मुद्रा के लिहाज से इनफोसिस का शुद्ध लाभ मार्च तिमाही में 27.4 फीसदी बढ़कर 2316 करोड़ रुपए हो गया है। विश्लेषकों को इसकी जगह 2318 करोड़ रुपए के शुद्ध लाभ की उम्मीद थी। पूरे साल 2011-12 का शुद्ध लाभ 8316 करोड़ रुपए है जो इससे पिछले साल के शुद्ध लाभ 6823 करोड़ रुपए से 21.9 फीसदी ज्यादा है। कंपनी के पास 31 मार्च 2012 तक 20,591 करोड़ रुपए का कैश बैलेंस है।

मार्च तिमाही में इनफोसिस ने 10,676 नए कर्मचारियों को काम पर रखा, जबकि 5770 छोड़कर चले गए। इस तरह कंपनी में कुल 4906 कर्मचारी बढ़ गए। इसी के साथ इनफोसिस कर्मचारियों की संख्या मार्च 2012 तक 1,49,994 पर पहुंच गई है। कंपनी की योजना अगले एक साल में 35,000 और लोगों को नौकरी पर रखने का है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *