दौर चला तेजी का, चर्चा मिड कैप की

बाजार में मिड कैप स्टॉक्स की चर्चा जोरशोर से चल पड़ी है। हर 5 सेकंड पर कोई न कोई सूचना आ जाती है और इनमें से ज्यादातर खबर बन जाती हैं। यह न केवल बाजार के लिए, बल्कि निवेशकों के लिए भी शुभ संकेत है। बी ग्रुप के शेयरों में रैली शुरू हो गई है। उन तमाम रिटेल निवेशकों को अब इनसे निकलने का मौका मिल जाएगा जिन्होंने इन्हें ऊंचे भाव पर खरीदा था।

दरअसल, यह एक दुष्चक्र है जहां राहत की सांस लेते हुए निवेशक स्टॉक्स को बेचकर निकल जाते हैं और तुरत-फुरत कमाई के चक्कर में कुछ नए स्टॉक्स खरीद लेते हैं। लेकिन दुखद बात यह है कि ये निवेशक यह नहीं समझते कि बाजार ने उन्हें निकलने का मौका दिया है जिसका मतलब ही है कि यहां से इन स्टॉक्स में तेजी का दौर शुरू हुआ है। हर किसी ने वीआईपी इंडस्ट्रीज को 53 रुपए पर बेच डाला, लेकिन यह स्टॉक 900 रुपए तक चला गया। इसी तरह हर कोई कैम्फर एंड एलायड प्रोडक्ट्स से 220 रुपए तक निकल गया है, जबकि मेरा मानना है कि यह साल 2011 और 2012 का सितारा शेयर साबित होगा।

जेट एयरवेज अंततः भारी वोल्यूम के साथ 495 रुपए को पार कर गया है। हालांकि बंद हुआ है 488.40 रुपए पर। अगले हफ्ते एयर इंडिया के आईपीओ की घोषणा हो सकती है जिससे पूरे एविएशन सेक्टर का नया मूल्यांकन किया जाएगा। मेरा मानना है कि जेट एयरवेज को 700 रुपए और स्पाइसजेट को 70 रुपए के ऊपर चला जाना चाहिए। ये दोनों ही ओल्फ फॉक्स (राधाकृष्ण दामाणी) के पसंदीदा स्टॉक हैं।

सुना है कि बीएफ यूटिलिटीज अपनी 12 फीसदी इक्विटी हिस्सेदारी 1200 रुपए के भाव से बेच रही है जबकि जे बी केमिकल्स अपनी इकाई जॉनसन सिंगापुर को 1400 करोड़ रुपए में बेच रही है। साथ ही वह 100 फीसदी लाभांश के साथ एक पर एक शेयर के बोनस की घोषणा भी कर सकती है। ये सारा घटनाक्रम मिड कैप स्टॉक्स के लिए सचमुच बड़ा सुखद है। इसमें अब रैली रफ्तार पकड़ लेगी।

रैनबैक्सी और एचडीआईएल में कुछ खबरें आनेवाली हैं जो इन स्टॉक्स को नए स्तर तक ले जाएंगी। आईडीबीआई बैंक शानदार नतीजों की घोषणा के बाद अगले तीन महीनों के भीतर पुराने उच्चतम स्तर को पार करनेवाला है। यह अब भी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में सबसे सस्ता स्टॉक है, हालांकि विकास के लिहाज से यह सबसे बड़ा है।

मुथूत फाइनेंस के आईपीओ का हालत पतली चल रही है। अब तो लगता है कि प्रवर्तक ही अपने जुगाड़ सब्सक्रिप्शन से इसका बेड़ा पार लगाने की जुगत भिड़ाएंगे। यह भी नहीं लगता कि एंकर निवेशकों को इससे आसानी से निकलने का मौका मिल पाएगा। असल में इधर दूसरों से मणप्पुरम जनरल फाइनेंस में खरीद की कॉल जारी करवाई गई है ताकि मुथूत के लिए थोड़ा माहौल बन सके। मेरी अपनी राय है कि यह बहुत रिस्की धंधा है और लोगों को मणप्पुरम से भी निकल जाना चाहिए।

अगर आप को याद हो तो मैंने आईसीएसए इंडिया को 220 रुपए पर डाउनग्रेड किया था। यह शेयर तभी से रपट रहा है और अब 120 रुपए पर आ चुका है। इस दौरान एफआईआई की होल्डिंग 43 फीसदी से घटकर अब 22 फीसदी पर आ चुकी है। अब भी मेरा मानना है कि इस कंपनी में सही कॉरपोरेट गवर्नेंस का अभाव है। कंपनी ने कभी साफ ही नहीं किया कि उसने डॉ. कौस्तुभ चोकसी के साथ क्या सौदे किए थे। डॉ. चोकसी को पवई पुलिस धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार कर चुकी है। मेरी बात का सार यह है कि आप उन्हीं कंपनियों में निवेश करें जिनमें पारदर्शिता और सफाई हो।

निफ्टी इस बार आसानी से 6100 का स्तर पार कर सकता है क्योंकि अमेरिका को डाउनग्रेड कर दिए जाने से अब ज्यादा से ज्यादा फंड भारत आ रहे हैं। हालांकि मैं अगले साल तक अमेरिकी बाजार में कोई गिरावट नहीं देख रहा क्योंकि वहां चुनाव होने हैं। लेकिन फंड भारत की तरफ वापसी जरूर करने लगे हैं जिससे सेंसेक्स मजे से 21,000 के पार चला जाएगा।

मुद्रास्फीति अब अकेले भारत का नहीं, वैश्विक मसला बन गया है। इसलिए हर बार इस मसले पर हायतौबा मचाने की जरूरत नहीं है। कच्चा तेल गिरावट की कगार है क्योंकि अमेरिका में मांग घटनेवाली है। इनफोसिस के नतीजे बुरे रहे हैं तो इसे आज नहीं तो कल होना ही था। इनफोसिस को छोड़ दें तो अभी तक कंपनियों के नतीजे अच्छे रहे हैं। बाजार का रुझान ऊपर का है। आज सेंसेक्स 1.83 फीसदी बढ़कर 19,470.98 और निफ्टी 1.93 फीसदी की बढ़त के साथ 5851.65 पर पहुंच गया। इस बार मेटल सेक्टर निफ्टी को बढ़ाने में मददगार साबित होगा।

सत्य हमेशा सुंदर नहीं होता। लेकिन सत्य की भूख हमेशा सुंदर होती है।

(चमत्कार चक्री एक अनाम शख्सियत है। वह बाजार की रग-रग से वाकिफ है। लेकिन फालतू के कानूनी लफड़ों में नहीं उलझना चाहता। सलाह देना उसका काम है। लेकिन निवेश का निर्णय पूरी तरह आपका होगा और चक्री या अर्थकाम किसी भी सूरत में इसके लिए जिम्मेदार नहीं होंगे। यह कॉलम मूलत: सीएनआई रिसर्च से लिया जा रहा है)

1 Comment

  1. TCS ALL SET TO ANNOUNCE BONUS TODAY.

Leave a Reply

Your email address will not be published.