इनसाइडर ट्रेडिंग में वकील व आरोपी दोनों भारतीय

वॉल स्ट्रीट के नाम से मशहूर न्यूटॉक स्टॉक एक्सचेंज को हिला देने वाले अमेरिका के सबसे बड़े इनसाइडर ट्रेडिंग मामले में भारतीय मूल के दो लोग आमने सामने हैं। एक अपराधी के कठघरे में तो दूसरा सरकारी वकील के रूप में। न्यूयॉर्क के शीर्ष संघीय वकील प्रीत भरारा द्वारा अमेरिका में कॉरपोरेट जगत की चर्चित शख्सियत रजत गुप्ता और अन्य पर आरोप साबित करने के लिए हर कानूनी दांवपेच अपनाए जाने की संभावना है।

भरारा न्यूयॉर्क के दक्षिणी जिले के अमेरिकी सरकारी वकील हैं। उन्होंने 62 वर्षीय गुप्ता के खिलाफ आरोप दाखिल करते समय कहा कि वॉल स्ट्रीट के शीर्ष अधिकारी को अमेरिकी व्यवसाय के कुछ प्रमुख संस्थानों ने यह जिम्मेदारी सौपी थी कि वह उनके अधिकारियों और निदेशकों से गोपनीय सूचनाएं एकत्र करे ताकि वह अपने शेयरधारकों को अच्छी सलाह दे सकें। भरारा ने कहा कि गुप्ता ने इन सूचनाओं का गलत इस्तेमाल किया और भारी लाभ कमाया।

कोलकाता में जन्मे गुप्ता ने अपने खिलाफ आरोपों को गलत बताया है। उसके खिलाफ अगले साल अप्रैल में मुकदमा चलने की संभावना है। फिरोजपुर में जन्मे भरारा को अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने 15 मई 2009 को अमेरिका का सरकारी वकील मनोनीत किया था। उनके नेतृत्व में वॉल स्ट्रीट में भेदिया कारोबार या इनसाइडर ट्रेडिंग के खिलाफ व्यापक मुहिम छेड़ी गई। सरकारी वकील के नाते उन्होंने संगठित अपराध, नशीले पदार्थ और प्रतिभूति संबंधों घोटालों के मामले लड़े हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.