ट्रेडिंग के लिए कितनी पूंजी है जरूरी!

अगर किसी ने ट्रेडिंग को अच्छी तरह समझ लिया, टेक्निकल एनालिसिस में पारंगत हो गया हो तो ट्रेडिंग की शुरुआत उसे कितनी पूंजी से करनी चाहिए? मेरे एक जाननेवाले हैं जो अड़े हुए हैं कि जब दस लाख नहीं हो जाते, तब तक ट्रेडिंग को हाथ नहीं लगाएंगे। वे यह भी कहते हैं कि उन्हें दिन में ट्रेडिंग से 10,000 कमाने हैं। अगर दिन के 1000-1500 ही कमाने हैं तो बेहतर है कि वे सब्जी-भाजी की दुकान खोल लें!

मैं कोई ज्ञानी नहीं हूं जो ट्रेडिंग के लिए अनिवार्य न्यूनतम पूंजी के सवाल का जवाब दे सकूं। वैसे भी इंसान और उसके जीवन से जुड़े हर सवाल के जवाब सापेक्ष होते हैं, निरपेक्ष नहीं। न्यूनतम ट्रेडिंग पूंजी व्यक्ति-व्यक्ति की स्थिति पर निर्भर करती है। पर, मेरा मानना है कि यह सवाल ही निरर्थक है। असली सवाल यह है कि अपनी पूंजी पर कितना कमाने का ट्रैक-रिकॉर्ड आपने हासिल किया है? क्या निरतंर लाभ कमाने का भरोसा आपने अभ्यास से हासिल किया है? साइकल चलाना सीख लिया, लेकिन क्या भीड़ भरी गलियों से बिना गिरे आपने फर्राटा भरा है? टेक्निकल या कोई भी एनालिसिस साइकल चलाने जैसी ही विद्या है।

आपने अगर महीने में कुल 25 फीसदी कमाने का अभ्यास बना लिया तो एक लाख रुपए की पूंजी पर 25,000 कमा लेंगे। वहीं पूंजी दस लाख है तो महीने की कमाई 2.50 लाख रुपए होगी। लेकिन यह गणित जितना आसान है, व्यवहार में उतना ही कठिन। कारण, ट्रेडिंग से कमाई का मूलाधार, मूल मंत्र ज्ञान और सूचनाओं का अंबार नहीं, बल्कि कठिन-कठोर अनुशासन है। और, यह अनुशासन रातों-रात नहीं आता। इसके लिए अभ्यास करना पड़ता है। इतना अभ्यास कि वो आपकी आदत का हिस्सा बन जाए।

यह भी नहीं कि पेपर ट्रेड से आप अभ्यास कर सकते हैं। अभ्यास के लिए अपने पैसे से आपको ट्रेड करना पड़ेगा। लेकिन कृपया हर ट्रेड आप खुद करें। ब्रोकर के माथे पर न डालें। अन्यथा अपने कमीशन के चक्कर में वो इतने ट्रेड डालेगा कि आपकी सारी पूंजी महीने-दो महीने में स्वाहा हो जाएगी। अपने पैसे से ट्रेडिंग इसलिए जरूरी है क्योंकि ट्रेडिंग करते वक्त हमारी भावनाएं बड़ी निर्णायक होती हैं। पेपर या वर्चुअल ट्रेड में चूंकि सचमुच की कोई पूंजी नहीं लगी होती। इसलिए हो सकता है कि आप अच्छा ट्रेड कर लें। वहीं जब अपने धन से ट्रेड करते हैं, तब एक-एक रुपए का नुकसान या फायदा हमारी धड़कनों को उठाता गिराता रहता है, जिससे हमारा ट्रेडिंग परफॉर्मेंस तय होता है। इसलिए वर्चुअल ट्रेडिंग के हीरो सचमुच की ट्रेडिंग में ज़ीरो बन जाते हैं।

तमाम लोग मानते हैं कि टेक्निकल एनालिसिस में पारंगत हो गए तो ट्रेडिंग से वो जमकर कमाई कर सकते हैं। ऊपर से डिमांड-सप्लाई (संस्थाओं की खरीद/ब्रिकी को पहले से पकड़ने) का नियम समझ लिया तो सोने में सुहागा। उन्हें यह सब किसी जादुई मंत्र जैसा दिखता है। मूविंग औसत ने स्टॉकैस्टिक को इस बिंदु पर क्रॉस किया है, जहां से 68 फीसदी फिबोनाकी रिट्रैसमेंट बनता है। यहां से 32 फीसदी इधर, वहां से 32 फीसदी उधर। ये है रेजिस्टैंस और वो है सपोर्ट। 60 मिनट के चार्ट पर ईएमए-6 को क्लोजिंग प्राइस से जोड़कर दो से भाग दे दो। यह होगा आपका एंट्री प्वाइंट। अब तो बस खरीदो-बेचो और नोट कमाओ।

काश! ट्रेडिंग से कमाई इतनी आसान होती तो लाखों ट्रेडर हर दिन बीवियों या मां-बाप के इतने ताने नहीं सहते। ट्रेडिंग में सफलता की कुंजी है अनुशासन। ऐसा अनुशासन जो आपकी पूंजी को सलामत रखे। ऐसा अनुशासन जो आपके अहम पर काबू कर सके। जो बता सके कि शेयर बाज़ार में निश्चितता नहीं, प्रायिकता होती है। यहां बड़े से बड़े विश्लेषक तक के सही होने की गारंटी हो ही नहीं सकती। 80 फीसदी प्रायिकता बढ़ने की है तो 20 फीसदी गिरने की भी है। इसलिए हर सौदे में स्टॉप लॉस का स्तर रखा जाता है।

इस अनुशासन का एक मोटा खाका हम दो फीसदी-छह फीसदी के नियम में पहले पेश कर चुके हैं। लेकिन शायद शुरुआत में हर सौदे में अधिकतम दो फीसदी का नुकसान/स्टॉप लॉस का नियम भी ज्यादा भारी पड़ गया। इसलिए कोई अपने लिए 0.25 फीसदी स्टॉप लॉस का नियम लेकर चले तो इससे बड़ा मुनाफा तो नहीं होगा. लेकिन भविष्य़ में बड़ा मुनाफा कमाने का आत्मविश्वास वो जरूर हासिल कर लेगा।

मान लीजिए कि आप 10,000 रुपए का कोई लांग/खरीद सौदा करते हैं तो उसमें आप नियम बना सकते हैं कि शेयर के 0.25 फीसदी गिरते ही आप उससे निकल जाएंगे। 25 रुपए का नुकसान आप पर कोई भारी नहीं पड़ेगा। लेकिन यह ट्रेडिंग की बारीकी और अनुशासन हासिल करने में आपकी मदद करेगा। यह भी नियम बना डालिए कि महीने में आपको अधिकतम 30 ट्रेड करने हैं। इनसे अगर आपकी पूंजी महीने में दस फीसदी बढ़ने लग जाए तो आप अपनी ट्रेडिंग पूंजी और स्टॉप लॉस की सीमा धीरे-धीरे बढ़ा सकते हैं। लेकिन एक सौदे में दो फीसदी और सारे सौदों में छह फीसदी स्टॉप लॉस का अनुशासन वो लक्ष्मण रेखा है जिसे किसी भी ट्रेडर को कभी पार नहीं करना चाहिए। अन्यथा सीता/पूंजी का हरण कोई रोक नहीं सकता।

आप कहेंगे कि ऐसे तो दिन के हज़ार कमाने में भी मुश्किल हो जाएगी। लेकिन जनाब! बूंद-बूंद से सागर बनता है। सागर धन का नहीं, आपके आत्मविश्वास का, आपके अनुशासन का। कम नुकसान एक दिन अनुशासन को आपकी आदत का हिस्सा बना देगा और तब आप उस बुनियाद पर खड़े होकर चाहें जितना उछल सकते हैं। तब आप दस हज़ार के बजाय दस लाख पूंजी से भी ट्रेड कर सकते हैं। यकीन मानिए, बहुत मुमकिन है कि तब आप दिन के दस हज़ार रुपए भी कमा लग जाएं। लेकिन छोटी पूंजी और छोटे नुकसान के साथ लंबे अभ्यास के बिना जोखिम उठाने से बाज आएं। नहीं तो किसी दिन बीवी का हाथ उठ गया तो सारी इज्जत का फालूदा बन जाएगा।

अंत में आप सभी को धन, समृद्धि और ऐश्वर्य के त्योहार दीपावली की बहुत-बहुत शुभकामनाएं। नया संवत 2070 आपके लिए खुशियों की नई सौगात लेकर आए। हां, इसके लिए लक्ष्मी को मन में रखते हुए आपको सरस्वती की साधना निरंतर करनी प़ड़ेगी। मैं भी यही कर रहा हूं तो आपसे भी यही अपेक्षा करता हूं।

3 Comments

  1. आप को भी दीपावली की हार्दिक शुभकामनाये …..

  2. आदरणीय अनिल जी, दीपावली एवं नव-संवत्सर के इस पावन अवसर पर आपको बहुत-बहुत शुभकामनाएँ प्रेषित करता हूँ। निवेशकों को शिक्षित करने की दिशा में आपका प्रत्येक प्रयास सराहनीय है और इस संदर्भ में आपके विचारों को मैं स्वयं अपने ह्रदय के बहुत क़रीब पाता हूँ। कभी-कभी तो ये भी सोचता हूँ की यदि आपके साथ काम करना संभव हो पाता तो कितना अच्छा रहता क्योंकि तब काम सिर्फ़ काम ना रह के एक सार्थक उद्देश्य होता। ख़ैर आपके इन प्रयासों से लाभान्वित हो कर ही अपनी मित्र-मण्डली के लिए मैं उनके निवेश से जुड़े कुछ अच्छे निर्णय ले पाता हूँ और इसके लिए मैं आपका हमेशा आभारी रहूँगा।

    एक बार पुनः बहुत बहुत शुभकामनाएँ………..

  3. Sir app ko bahut bahut happy deepawali….SIR aap se request hai .ki aap es bazaar me apni taraf se .best 5.stock ( D to D ke ) leye dena ka kasht kare..

Leave a Reply

Your email address will not be published.