चीन की आर्थिक वृद्धि दर 9.3% रहेगी: विश्व बैंक

विश्व बैंक ने चीन की आर्थिक वृद्धि दर इस साल 9.3 फीसदी रहने का अनुमान जताया है जबकि पहले इसके 8.7 फीसदी रहने की बात कही गई थी। विश्व बैंक ने बीते नवंबर में जारी तिमाही रिपोर्ट में चीन की आर्थिक वृद्धि दर 2011 में 8.7 फीसदी रहने अनुमान जताया था। लेकिन नई रिपोर्ट में साम्यवादी देश की आर्थिक वृद्धि 9.3 फीसदी रहने की बात कही गई है।

चीन की अर्थव्यवस्था के नियमित आकलन में विश्व बैंक ने कहा कि संकट के समय भी चीन की आर्थिक वृद्धि अच्छी रही है। रिपोर्ट में देश के आर्थिक परिदृश्य को सकारात्मक बताया गया है। कहा गया है कि जापान में आए भूकंप और कच्चे माल की ऊंची कीमत से वैश्विक आर्थिक परिदृश्य पर अभी बहुत ज्यादा असर नहीं पड़ा है।

शिन्हुआ समाचार एजेंसी ने रिपोर्ट के हवाले से कहा है कि कच्चे माल का दाम बढ़ने से 2011 में चालू खाते का अधिशेष घटेगा। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि खाद्य वस्तुओं की कीमतों के बढ़ने की दर कम हुई है। ऐसे में मुद्रास्फीति थोड़ी नरम होनी चाहिए और इसके सीमा के भीतर रहने की अपेक्षा है।

बहरहाल, विश्व बैंक के वरिष्ठ अर्थशास्त्री लुईस कुज्स ने कहा, ‘‘कच्चे तेल और औद्योगिक वस्तुओं की कीमत ऊंची बनी हुई है। इससे मुद्रास्फीति के ऊपर जाने का खतरा है।’’ रिपोर्ट में कहा गया है कि कड़ी समष्टि आर्थिक नीति को बंद करना उचित नहीं है क्योंकि मुद्रास्फीति और रीयल एस्टेट बाजार में जोखिम बना हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.