लेते रहें आईडीबीआई व टाटा स्टील

अमेरिकी बाजारों की गिरावट और हंगरी के संकट के बावजूद अगर बाजार (बीएसई सेंसेक्स) 431 अंक तक गिर गया और बंद हुआ करीब 337 अंक की गिरावट के साथ तो इसमें बहुत परेशान होने की बात नहीं है। एनएसई निफ्टी में इसी तरह का करेक्शन आया है।

ध्यान दें कि ऐसे हर करेक्शन के बाद बाजार ने वापसी की है और एनएसई निफ्टी पूरी दृढ़ता के साथ 5000 और 5100 का स्तर पार कर गया है। आज भी निफ्टी 5000 अंक से नीचे नहीं गया। असल में 4800 अंक पर काफी तगड़ा प्रतिरोध है और निफ्टी में मेरा पहला लक्ष्य 5700 अंक का है।

मैं फिर दोहराऊंगा कि आपको हर गिरावट पर आईडीबीआई, आईएफसीआई, एससीआई, टाटा स्टील और डीएलएफ में अपनी खरीद बढ़ा लेनी चाहिए। जल्दी ही हम आईडीबीआई बैंक में कुछ बैंकों का विलय देखनेवाले हैं और तब इसके बिजनेस में काफी विस्तार हो जाएगा। आप आईडीबाई बैंक में अभी चल रहे मूल्य के दायरे में कई बार खरीद करने का मौका पाएंगे। अभी इसका बाजार मूल्य बुक वैल्यू से नीचे हैं और पी/ई अनुपात सात से भी कम है। बाजार की इस उठा-पटक के बीच मेरी सलाह यही है कि आप कतई घबराएं नहीं और जो भी मजबूत शेयर गिर रहा हो, उसे फौरन खरीद दें।

सब कुछ शांत हो तो हर कोई रास्ता खोज लेता है। समझदार तो वे हैं जो तूफान भरी आंधियों में भी मंजिल तक बिना भटके पहुंच जाते हैं।

(चमत्कार चक्री एक अनाम शख्सियत है। वह बाजार की रग-रग से वाकिफ है लेकिन फालतू के कानूनी लफड़ों में नहीं उलझना चाहता। सलाह देना उसका काम है। लेकिन निवेश का निर्णय पूरी तरह आपका होगा और चक्री या अर्थकाम किसी भी सूरत में इसके लिए जिम्मेदार नहीं होगा। यह कॉलम मूलत: सीएनआई रिसर्च से लिया जा रहा है)

2 Comments

  1. मै शेयर मार्केट की आनलाइन ट्रेडिंग करना चाहता हूँ … लेकिन इस सम्बन्ध में मेरी जानकारी सीमित है …. क्या आप मेरी सहायता करेंगे कि कहाँ से कैसे शुरुआत की जाय

  2. मै शेयर मार्केट की आनलाइन ट्रेडिंग करना चाहता हूँ … लेकिन इस सम्बन्ध में मेरी जानकारी सीमित है …. क्या आप मेरी सहायता करेंगे कि कहाँ से कैसे शुरुआत की जाय

Leave a Reply

Your email address will not be published.