जर्मनी यूरो को छोड़ फिर मार्क को अपनाएगा?

क्या जर्मनी एक बार फिर से अपनी पुरानी मुद्रा डॉयच मार्क को अपनाने की तैयारी में है? मीडिया की खबर पर भरोसा करें तो जर्मनी इस समय प्रचलित मुद्रा यूरो के स्थान पर फिर से डॉयच मार्क को प्रचलन में लाने की तैयारी में हैं।

लंदन के ‘डेली एक्सप्रेस’ में प्रकाशित एक खबर में कहा गया है कि कयास लगाए जा रहे हैं कि यूरो के स्थान पर एक बार फिर डॉयच मार्क के बैंक नोट छापे जा रहे हैं। बुंडेस बैंक ने यूरोप में एकसमान मुद्रा प्रणाली से अलग होने की तैयारी करते हुए इसकी छपाई का ऑर्डर दिया है। बुंडेस बैंक जर्मनी का केंद्रीय बैंक है।

साल 1999 में यूरो की शुरुआत हुई थी। इस समय यूरो मुद्रा के लिए सबसे कठिन दौर चल रहा है। द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद विश्व की सबसे स्थिर मुद्रा के तौर पर यूरो, अमेरिकी डॉलर के बाद निवेशकों के लिए दूसरा विकल्प रहा है।

एक हालिया सर्वेक्षण के मुताबिक, अब तीन चौथाई जर्मनवासी यूरो के भविष्य के तौर पर आशंकित है। उनका मानना है कि लगभग दिवालिया होने की कगार पर खड़े ग्रीस को बचाने के लिए राहत के तौर पर किया जाने वाला अरबों यूरों का खर्च भी निरर्थक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.