एफसीआई ने दी 46 साल में कामकाज की पहली रिपोर्ट

देश भर में खाद्यान्नों की खरीद से लेकर वितरण तक का काम देखनेवाली मुख्य सरकारी संस्था भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) ने अपनी स्थापना के 46 साल बाद कामकाज की पहली रिपोर्ट जारी की है। केन्‍द्रीय खाद्य मंत्री के वी थॉमस ने शुक्रवार को एफसीआई के वर्ष 2010-11 की परिचालन रिपोर्ट जारी की। वाकई यह चौंकानेवाली बात है कि 1965 में एफसीआई की स्‍थापना होने के बाद से यह इस तरह की पहली रिपोर्ट है।

इस रिपोर्ट में शामिल सांख्यिकीय सूचनाएं एफसीआई के परिचालन आंकड़ों पर आधारित है। रिपोर्ट जारी करते हुए मंत्री महोदय ने कहा कि यह रिपोर्ट एफसीआई के कामकाज में और पारदर्शिता लाने में सहायक होगी। उन्‍होंने कहा कि यह रिपोर्ट सूचना के एकल स्रोत का काम करेगी। इसमें विस्‍तृत और महानगर स्‍तर के परिचालन संबंधी आंकड़े रखे गए हैं।

रिपोर्ट के अनुसार एफसीआई ने वर्ष 2010-11 में पिछले वर्ष की तुलना में अनाजों की कुल आवाजाही में 10 फीसदी की वृद्धि दर्ज की है। उत्‍तर-पूर्वी क्षेत्रों में यह वृद्धि लगभग 19 फीसदी है। वर्ष 2010-11 के दौरान एफसीआई ने खाद्यानों की रिकॉर्ड खरीद और आवंटन किया है। परिचालन रिपोर्ट में कुल आठ अध्याय हैं, जिसमें स्‍टॉक के सांख्यिकी आंकड़े, भंडारण क्षमता, वितरण व खरीद की जानकारी उपलब्‍ध है।

श्री थॉमस ने कहा कि आधुनिक तकनीक के इस्तेमाल से खाद्यान्न भंडारण को आधुनिक बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं। एफसीआई ने भंडारण क्षमता को बढ़ाने के भी प्रयास किए हैं। इसमें वर्ष 2010-11 के दौरान 27.74 लाख टन की वृद्धि हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.