शाहिद बलवा के खिलाफ एतिसलात कोर्ट में

अबू धाबी की टेलिकॉम कंपनी एतिसलात ने स्वान टेलिकॉम (अब एतिसलात डीबी) के खिलाफ धोखाधड़ी और तथ्यों की गलत जानकारी देने का मुकदमा दायर किया है। एतिसलात ने एक बयान में कहा कि उसने शाहिद बलवा, विनोद गोयनका और मैजिस्टिक इन्फ्राकॉन प्रा. लिमिटेड के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में मुकदमा किया है।

मालूम हो कि एतिसलात ने 2008 में बलवा प्रवर्तित स्वान टेलिकॉम में 45 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 90 करोड़ डॉलर अदा किए थे। बाद में इस कंपनी का नाम एतिसलात डीबी कर दिया गया। एतिसलात का कहना है कि उसने उस समय स्वान में निवेश बिना सही तथ्यों की जानकारी के किया। अब यह मामला सीबीआई की जांच और सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सामने आया है।

कंपनी ने कहा, ‘‘ये घटनाएं एतिसलात के निवेश के एक साल पहले की है। अब अपने निवेश पर उसे भारी नुकसान हो रहा है, जबकि 2जी लाइसेंस आवेदन या आवंटन की प्रक्रिया से उसका कोई लेनादेना नहीं है और इस मामले में वह पूरी तरह निर्दोष है।’’

उसने आरोप लगाया है कि उस समय स्वान के लिए बलवा, गोयनका और मैजिस्टिक इन्फ्राकॉन जिम्मेदार हैं। एतिसलात ने मंगलवार को भारत से अपने कारोबार को स्थानांतरित करने की घोषणा की थी। सुप्रीम कोर्ट द्वारा 2जी मोबाइल सेवाओं के 122 लाइसेंस रद्द किए जाने के फैसले से वह भी प्रभावित हुई है। पश्चिम एशिया की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी एतिसलात की फिलहाल भारतीय कंपनी में 44.7 फीसदी हिस्सेदारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.