पहुँच बराबर बढ़ रही है एल्गी की

एल्गी इक्विपमेन्ट्स (बीएसई – 522074, एनएसई – ELGIEQUIP) कम्प्रेसर व इससे जुड़े अन्य उपकरण बनाती है जो माइनिंग, ट्रान्सपोर्ट, ओटोमोबाइल, फार्मा, बिजली व ऑयल जैसे तमाम उद्योगों में इस्तेमाल होते हैं। घरेलू बाज़ार के साथ कंपनी अमेरिका, यूरोप व मध्य-पूर्व समेत दुनिया के तमाम देशों को निर्यात करती है। वह विदेश में अधिग्रहण के ज़रिए भी विस्तार की कोशिश में लगी है। पिछले वित्त वर्ष में उसने फ्रांस की कम्प्रेसर कंपनी बेलेयर का अधिग्रहण किया है। इससे यूरोप के बाज़ारों में इसकी पहुँच आसान व सीधी हो गई है।

कंपनी, चीन और ब्राज़ील जैसे नए उभरते देशों में पैठ बना रही है। ब्राज़ील की इकाई के लिए उसने सारी औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं। देश के भीतर कंपनी के उत्पादों की मांग के बारे में कोई समस्या नहीं है। अकेले ओटोमोबाइल सेक्टर की बात करें तो कारों का इस्तेमाल बढ़ रहा है। कंपनियां नए से नए मॉडल निकाल रही है। एल्गी बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए नई उत्पादन सुविधा लगा रही है। इसके लिए वह ज़मीन ख़रीद चुकी है। वह अपनी फाउन्डरी लगाने की योजना पर काम कर रही है ताकि उसे अपने उत्पादों के कंपोनेंट व कास्टिंग इनहाउस मिल सकें। कंपनी की बिक्री बीती सितम्बर तिमाही में 50 फीसदी बढ़कर 207.93 करोड़ रुपए हो गई है। जबकि परिचालन लाभ 58 फीसदी वृद्धि के साथ 40.89 करोड़ रुपए पर पहुँच गया है। उसका ओपीएम (परिचालन लाभ मार्जिन) पिछली तीन तिमाहियों में 12, 18 और अब 20 फीसदी के अच्छे स्तर पर है। कंपनी का एक रुपए अंकित मूल्य का शेयर इस समय 84.15 रुपए पर है। इसका ठीक पिछले बारह महिने का ईपीएस (प्रति शेयर शुद्ध लाभ) 4.70 है और शेयर अभी के पी/ई अनुपात 17.93 पर ट्रेड हो रहा है। इनकी प्रति शेयर बुक वैल्यू 19.83 रुपए है।

इसे बहुत सस्ता शेयर तो नहीं कहा जा सकता है। लेकिन जिस तरह कंपनी अपना देश-विदेश विस्तार कर रही है उसे देखते हुए इसमें लंबे समय के लिए निवेश किया जा सकता है जो सुरक्षित होने के साथ-साथ भविष्य में लाभ-प्रद भी साबित होगा।

बाकी़ चर्चा-ए-खास यह है कि इनॉक्स का शेयर अगले तीन दिनों में 65 रुपए तक जा सकता है। यह शेयर इस समय 59.95 रुपए पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.