जादू है, नशा है, पर मदहोशी न चढ़े

आज शनिवार को एनएसई और बीएसई में विशेष ट्रेडिंग सत्र होगा। 11 बजे से 12.45 बजे तक जिसमें शुरू में 15 मिनट का प्री-ओपन सत्र होगा। कैश और फ्यूचर व ऑप्शन (एफ एंड ओ) दोनों में ऑर्डर पेश किए जा सकते हैं। यह सूचना उन लोगों का दिल खुश कर देनेवाली है जिन्हें ट्रेडिंग का नशा लग चुका है। मैं इधर कुछ लोगों से मिला जो सुबह नौ बजे से लेकर शाम साढ़े तीन बजे बाज़ार बंद होने तक कंप्यूटर स्क्रीन के सामने डटे रहते हैं। वहीं बैठे-बैठे लंच कर लेते हैं। 25-30 हज़ार का ट्रेडिंग सॉफ्टवेयर ले रखा है और ‘इसको मार, उसको काट’ करते रहते हैं।

लेकिन किसी भी नशे की तरह ट्रेडिंग का नशा भी सेहत के लिए अच्छा नहीं है। न शरीर और न ही धन के लिए। स्वस्थ रहने के लिए टेंशन-फ्री रहना बहुत ज़रूरी है। इंट्रा-डे ट्रेडिंग से दूर रहना भला। सावधानी हटी, दुर्घटना घटी। बीच में गलती से लाइट चली गई तो हज़ारों का फटका आपकी पूरी सावधानी के बावजूद लग सकता है। इसलिए स्विंग ट्रेड, मोमेंटम ट्रेड या पोजिशन ट्रेडिंग ही सबसे अच्छा तरीका है। कसकर अध्ययन कीजिए। ट्रेडिंग के मौके खोजें और ऑर्डर देकर निश्चिंत भाव से मौज-मस्ती कीजिए। बताते हैं कि दुनिया भर में स्टॉक्स, कमोडिटी या फॉरेक्स के प्रोफेशनल ट्रेडर यही करते हैं। हां, नशा उनको भी है क्योंकि यही उनका पेशा है। लेकिन बड़े ठंडे दिमाग से, लिमिट में रहते हुए वे यह नशा करते हैं।

अब सरसरी तौर पर देखते है कि इस हफ्ते दी गई ट्रेडिंग सलाहों की क्या स्थिति रही? सोमवार को बताए गए अडानी एंटरप्राइसेज़ में लक्ष्य 220-221 रुपए के आसपास खरीदकर 235 रुपए पर बेचने का था। गुरुवार को यह 234.70 तक जाकर नीचे उतरा है। मंगलवार को बताया 242.50 से 262.90 तक गया है, लेकिन 277 के लक्ष्य से दूर है। वैसे सात में से तीन दिन अभी बाकी हैं। बजाज फाइनेंस में लक्ष्य 1300 का था। लेकिन वो शुक्रवार को 1415 तक जा चुका है। पेट्रोनेट एलएनजी के बढ़कर 147 पर पहुंचने का लक्ष्य था। वो 145.95 तक जा चुका है। सफलता पर संतोष।

बुधवार को बताया अशोक लेलैंड बढ़ने के बजाय घट गया। 25.50 रुपए के लक्ष्य से दूर है। लेकिन उम्मीद के दो दिन अभी बाकी हैं। जे के लक्ष्मी सीमेंट के लिए बीस दिन में 99.50 से नीचे एंट्री लेकर 125 रुपए तक पहुंचने का लक्ष्य था। यह 113 तक जाने के बाद थोड़ा नीचे उतरा है। गुरुवार को 340 के लक्ष्य के साथ बताया गया टाटा स्टील 321.90 तक गया है। एफएजी बियरिंग्स 1425 से 1475 तक उठा है। इसमें दस दिम में लक्ष्य 1525 का बताया था। एस्सार ऑयल के लिए 80 रुपए से बढ़कर 86 रुपए तक पहुंचने का लक्ष्य था। यह एक दिन में ही 85.50 तक जा चुका है। एक के चूकने से थोड़ा अफसोस।

शुक्रवार को यस बैंक में डरते-डरते शॉर्टसेल की सलाह दी थी। वो गलत निकली। 490 रुपए के लक्ष्य के साथ स्टॉप लॉस ज़रा ऊपर 511 रुपए का बताया था। शेयर नीचे में 499 तक ही गया, जबकि ऊपर में 510.80 रुपए तक। टीसीएस को थोड़ा नीचे 1493 तक आने पर पांच दिन में 1560 के लक्ष्य के साथ खरीदने को कहना था। यह सुबह-सुबह 1509.90 तक जाने के बाद नीचे में 1491.05 तक आया है। अभी इसमें चार दिन बाकी हैं। गोदरेज इंडस्ट्रीज 304 तक नीचे आने पर पांच दिन में 325 तक जाने के लक्ष्य के साथ खरीदने की सलाह थी। लेकिन वह नीचे में 309 तक ही गया, जबकि ऊपर में 314.80 तक पहुंचा है। आशा है बलवती।

बड़े बुजुर्ग कहते हैं कि आगे बढ़ने से पहले पीछे की समीक्षा ज़रूरी है। हालांकि मुझे ऐसा नहीं लगता क्योंकि जो आगे आनेवाला है, वो जरूरी नहीं कि पिछले जैसा हो। हमें चुनौतियों के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए। इसमें पिछला अनुभव तो वैसे ही हमें बदलता रहता है। स्किल को उठाता रहता है, बशर्ते हम अहम को एक किनारे रखने को तैयार हों। यात्रा जारी है। गुजरी यात्रा की समीक्षा आपको करनी हो तो गहराई से कर लीजिए। लेकिन याद रखें कि प्रकृति से आंखें सिर के आगे लगाई हैं, पीछे नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.