बजट के टैक्सों पर क्या मगजमारी!

बाजार आज तकरीबन पांच मिनट को छोड़कर बाकी दिन भर ऊपर बना रहा। सेंसेक्स 0.48 फीसदी की बढ़त लेकर 17,587.67 और निफ्टी 0.49 फीसदी की बढ़त के साथ 5359.55 पर बंद हुआ। लेकिन एमसीएक्स नीचे में 1214 रुपए तक चला गया। यह मेरी उस धारणा की पुष्टि करता है कि आईपीओ में ओवर-सब्सक्रिप्शन ऊपर से कराया गया था, मैनेज किया गया था और जो भी मांग दिखाई गई, वह बनावटी थी। यही वजह है कि जिन लोगों ने भी इसमें निवेश किया है, वे पहला मौका मिलते ही निकलने की जुगत में लगे हुए हैं।

यहां तक कि फाइनेंशियल टेक्नोलॉजीज को भी 775 रुपए तक तोड़कर बैठा दिया गया। इसे फ्यूचर्स व ऑप्शंस (एफ एंड ओ)  सेगमेंट में 30 फीसदी निचोड़ने के पुराने खेल के तहत अभी और तोड़ा जाता रहेगा। असल में ज्यादातर ट्रेडर और निवेशक फाइनेंशियल टेक्नोलॉजीज में यह मानते हुए लांग सौदे करके बैठे हैं कि एमसीएक्स में उसकी 26 फीसदी इक्विटी हिस्सेदारी का मूल्य बढ़ने से कंपनी का मूल्य बढ़ जाएगा। लेकिन यह तो दरअसल जब तक बेचा नहीं जाता, तब तक सांकेतिक ही है। आईपीओ के जरिए फाइनेंशियल टेक्नोलॉजीज एमसीएक्स की 12.6 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर पहले ही 273.62 करोड़ रुपए जुटा चुकी है। बाजार में हमेशा शोर था कि इसका शेयर 975 रुपए तक चला जाएगा। इसलिए किसी ने शॉर्ट सेलिंग करने की हिम्मत नहीं की थी। लेकिन एमसीएक्स और फाइनेंशियल टेक्नोलॉजीज के स्टॉक्स में मार्च अंत तक थिर होने से पहले अभी और तकलीफ होनी है।

हमने साफतौर पर कहा था कि सीआरआर में कटौती शुक्रवार को होगी। निफ्टी हमारे बताए गए स्तर 5435 को छूने के बाद ही नीचे आया। अखिलेश यादव पर हमारा कहना सही निकला और मुलायम सिंह यादव पर भी सही निकलेगा क्योंकि टाइम्स ऑफ इंडिया ने कल खबर चलाई है कि वे दिल्ली आ रहे हैं। इसके बाद कांग्रेस सरकार ने ममता को चेतावनी दी, यह इस सच्चाई की तस्दीक करता है।

जयप्रकाश एसोसिएट्स के शेयर उफान पर हैं। इनमें सक्रियता बनी रहेगी। इसकी तीन वजहें हैं। एक, चुनाव नतीजों के दिन इसमें 67 रुपए पर भारी शॉर्ट सौदे हो रखे हैं। दो, सीमेंट डिवीजन ने उम्मीद से बेहतर कामकाज किया है। तीन, सरकार बदलते के साथ कंपनी के समीकरण भी बदल गए हैं और बिगड़ने के बजाय पहले से बेहतर हो गए हैं। यह समाजवादी पार्टी के इस बयान से झलकता है कि वे ताज और गंगा एक्सप्रेस-वे का काम नहीं रोकेंगे। जयप्रकाश में आनेवाले दिनों में धमाका हो सकता है और यह मेरे लक्ष्य 125 रुपए को छूने की कोशिश करेगा।

टाइम्स ऑफ इंडिया में लगातार दो पेज के विज्ञापन के बाद बॉम्बे डाईंग के निदेशक ने एक इंटरव्यू में कहा है कि शेयरधारकों की समृद्धि बढ़ाई जाएगी। ये इस बात का संकेत है कि यह शेयर बहुत ही जल्द चार अंकों में जानेवाला है। बजट में क्या होने जा रहा है, इसे खुद जानने-परखने की कोशिश करें। जाने कि यह बजट लोकलुभावन होगा या नहीं और क्यों? खुद को शिक्षित बनाए बगैर आप बड़ा फायदा नहीं कमा सकते। जिन्होंने हालात पर बराबर नजर रखी होगी, उन्हें पता रहा होगा कि शुक्रवार को रिजर्व बैंक ने सीआरआर में क्यों कमी की है। इसी तरह बजट के बारे में समग्र दृष्टिकोण बनाना आपके लिए ज्यादा महत्व रखता है बनिस्बत इसके कि किन टैक्सों को दो फीसदी बढ़ाया या घटाया गया। इससे शेयरों के भाव पर खास प्रभाव नहीं पड़ता क्योंकि कंपनियां इसका असर सीधे उपभोक्ताओं तक खिसका देंगी। इसलिए इस पर अपनी ऊर्जा नष्ट करने का क्या फायदा!

हम बाजार को लेकर तेजी की धारणा रखते हैं और निफ्टी में समर्थन व प्रतिरोध के स्तर की शिनाख्त में लगे हैं। हमारा मानना है कि बजट को लेकर आंख मूंदकर जोखिम उठाने से बेहतर होगा कि पहले उसके प्रति बाजार के तर्कसंगत नजरिए से वाकिफ हो लिया जाए।

असली ऐश तो उनकी है जिनके पास आनंद के लिए पढ़ने का समय और मौका होता है।

(चमत्कार चक्री एक अनाम शख्सियत है। वह बाजार की रग-रग से वाकिफ है। लेकिन फालतू के कानूनी लफड़ों में नहीं पड़ना चाहता। इसलिए अनाम है। वह अंदर की बातें आपके सामने रखता है। लेकिन उसमें बड़बोलापन हो सकता है। आपके निवेश फैसलों के लिए अर्थकाम किसी भी हाल में जिम्मेदार नहीं होगा। यह मूलत: सीएनआई रिसर्च का कॉलम है, जिसे हम यहां आपकी शिक्षा के लिए पेश कर रहे हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published.