यहां सब कुछ बदलता है हर पल। घूमता है, चलता नहीं। एक चक्र है जिसमें चीजें जहां से चली थीं, घूम-फिरकर वहीं कहीं आसपास आ जाती हैं। हां, समय चलता है निरंतर! लेकिन समय तो एक टेक्नोलॉजी है जिसे प्रकृति ने नहीं, हमने ईजाद किया है।और भीऔर भी

हमें दूर का सब दिखता है। जो नहीं दिखता, उसे भी देखने का सरंजाम कर लेते हैं हम। लेकिन पास की चीजें नहीं देख पाते हम, जबकि समाधान आसपास ही मौजूद है जिसके लिए दूर जाने की जरूरत नहीं।और भीऔर भी