ले ही लें टाटा स्टील व आईडीबीआई

टाटा स्टील सोमवार को बीएसई में 536.20 रुपए और एनएसई में 536.35 रुपए पर बंद हुआ है। उसका टीटीएम ईपीएस या पिछले 12 महीनों की प्रति शेयर कमाई 48.96 रुपए है। इस आधार इस शेयर का मौजूदा पी/ई अनुपात 10.95 है। हालांकि बीएसई इसका पी/ई अनुपात 9.89 ही बताता है। दूसरी तरफ स्टील उद्योग की अन्य प्रमुख कंपनियों, स्टील अथॉरिटी का पी/ई अनुपात 14.08 और जेएसडब्ल्यू स्टील का 11.01 है। केवल इसी आधार पर देखें तो टाटा स्टील का शेयर 686 रुपए तक जाने की कुव्वत रखता है। जानकारों की मानें तो साल भर में यह 1200 रुपए तक जा सकता है। हालांकि मंगलवार को इस शेयर में शुरुआती गिरावट के संकेत नजर आ रहे हैं। इसलिए बाजार खुलने के बाद उसकी गति देखकर ही इसमें खरीद का ऑर्डर लगाएं।

यही हाल आईडीबीआई का है। सोमवार को उसका शेयर बीएसई में 116.15 रुपए और एनएसई में 116.35 रुपए पर बंद हुआ है। इसका मौजूदा टीटीएम ईपीएस 14.23 रुपए है। इस आधार पर उसका पी/ई अनुपात 8.17 है। दूसरी तरफ एसबीआई का पी/ई अनुपात 15.59, बैंक ऑफ बड़ौदा का पी/ई अनुपात 8.06 और एचडीएफसी बैंक का पी/ई अनुपात 28.66 है। जाहिर-सी बात है बैंक ऑफ बड़ौदा और आईडीबीआई बैंक दोनों ही आकर्षक बढ़त की संभावना रखते हैं। एक खास बात आईडीबीआई बैंक के बारे में दावे के साथ कही जा सकती है कि इसका प्रबंधन बहुत ही प्रोफेशनल है। वह बड़ी सावधानी से विकास की राह पर मजबूत कदमों से आगे बढ़ रहा है। वैसे, बैंकिंग क्षेत्र में थोड़ा व्यवस्थागत जोखिम रहता है। लेकिन आईडीबीआई बैंक में सरकार की 52.67 फीसदी की इक्विटी हिस्सेदारी को देखते हुए यह जोखिम अपने आप ही मद्धिम पड़ जाता है।

यह तो हुई इन दोनों शेयरों की मूलभूत मजबूती की बात। अब चर्चा करते हैं बाजार की हलचलों की। टाटा स्टील में काफी शॉर्ट सेलिंग हो रखी है। लेकिन इसे फौरन कवर करने का दबाव है। इसलिए जल्दी ही इसके भाव ताजा खरीद का समर्थन पाकर 550 रुपए तक जा सकते हैं। उधर खबर है कि शेनसुई बैंक ने आईडीबीआई बैंक को बटोरना शुरू कर दिया है। इसके अलावा कुछ बड़े ब्रोकरेज हाउस भी इस शेयर पर नजर गढाए हुए हैं। इसलिए मांग को देखते हुए आईडीबीआई भी मजे से एकाध दिन में 120-125 रुपए तक जा सकता है। अब चूंकि दोनों ए ग्रुप के शेयर हैं। इसलिए विदेशी बाजारों की हलचल और रोलओवर का नकारात्मक प्रभाव इन पर पड़ सकता है। लेकिन आम निवेशकों को ये दोनों ही शेयर दीर्घकालिक निवेश के लिए खरीदने चाहिए। जब भी गिरें, थोड़ा-थोड़ा करके इनकी खरीद को बढ़ाते रहना चाहिए।

अब सूत्रों के हवाले मिली कुछ फुटकर सूचनाएं। एल एन मित्तल शिवालिक बाईमेटल को पूरी तरह खरीद सकते हैं और अपनी एक तिहाई हिस्सेदारी वाली कंपनी इन्नोवेटिव क्लैड सोल्यूशंस के साथ उसका विलय कर सकते हैं। शिवालिक का शेयर अभी बीएसई में 32.95 रुपए चल रहा है। श्रेडर डंकन में भारी छलांग के आसार हैं। सोमवार को बीएसई में इसका शेयर 6.29 फीसदी की वृद्धि के साथ 150.40 रुपए पर बंद हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.