बी ग्रुप के शेयरों में शानदार चाल

मैंने कल ही एनएमडीसी के बारे में लिखा था और इसके शेयर के भाव में 5 फीसदी से ज्यादा का करेक्शन आ गया। मतलब, इसमें इसमें इतनी गिरावट आ गई। इसीलिए सेसा गोवा का ताप भी ठंडा पड़ रहा है। बहुत से कारोबारी गलत दांव में फंस गए हैं और इसलिए आनेवाले दिनों में सेसा गोवा में काफी ज्यादा गिरावट आ सकती है। वैसे इस स्टॉक का दायरा बढ़ चुका है। आज ही कुछ एजेंसियों व चैनलों ने इसमें खरीद की सलाह दी है।

इसके साथ ही रीयल्टी कंपनियों के शेयरों में भारी मजबूती दिखाई है। यह सेक्टर इस समय बाजार की नई पसंद बन गया है और इसलिए आगामी दिनों में इसमें जबरदस्त हलचल आने की उम्मीद है। अभी बहुतों के पास इस सेक्टर के शेयर नहीं हैं। नतीजतन अगले तीन महीनों में ये शेयर नई ऊंचाई पर पहुंच सकते हैं।

निफ्टी की बात करें तो इसमें ताजा शॉर्ट सेल 5100 के स्तर पर हुई हैं, जिसमें स्टॉप लॉस 5125 का है। इसलिए इसमें नई खरीद तभी होनी चाहिए जब निफ्टी 5125 का स्तर पार कर लेगा। यह करेक्शन के साथ 5000 तक जा सकता है और यह स्तर टूट गया तो यह 4950 तक भी गिर सकता है जो मुझे लगता है कि 15 मार्च के बाद ही होगा। बाजार के लिए एनएमडीसी के एफपीओ का मूल्य निर्धारण अहम मसला है जो सोमवार 8 मार्च को हो जाना चाहिए। तब तक अगर कारोबारी शॉर्ट हो जाते हैं यानी बिकवाली करते हैं, तब भी एलआईसी बाजार में खरीद करेगा। इसलिए मैं निवेशकों को ए ग्रुप के शेयरों में ट्रेडिंग से फिलहाल दूर रहने की सलाह दूंगा।

हमने बाजार खुलने के काफी पहले ज़ाइकॉम की स्टोर पेश कर दी थी। और, यह शेयर 20 फीसदी तक उठ गया, हालांकि जब सीएनआई ने स्टोरी का खुलासा किया था तब इसमें वोल्यूम या कारोबार केवल 14,000 शेयरों का था। हमने आज ही बताया है कि इंडिया इंफोलाइन ने अपनी एनबीएफसी सब्सिडिटरी के जरिए बैंकिंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने की योजना बनाई है। एक प्रमुख फंड इसके काफी शेयर खुले बाजार से खरीदनेवाला है जिससे इसमें उसकी मौजूदा होल्डिंग और बढ़ जाएगी।

सेरा सैनिटेशन अहमदाबाद में कडी की परियोजना में बड़ा विस्तार करनेवाली है। इस पर पूंजी खर्च 25 से 45 करोड़ रुपए का होगा। इस शेयर की  बुक वैल्यू (प्रति शेयर नेटवर्थ यानी शेयर पूंजी व रिजर्व का योग) 140 रुपए से अधिक है। इसलिए इसमें बोनस आने की भरपूर गुंजाइश है। कंपनी में विकास की संभावनाओं को देखते हुए मुझे लगता है कि बोनस अच्छा होगा, शेयरधारकों को खुलकर इसका लाभ दिया जाएगा। लेकिन बोनस कब दिया जाएगा, इसका फैसला तो कंपनी प्रबंधन पर निर्भर करता है।

जुआरी एग्रो समेत बी ग्रुप के शेयरों में शानदार चाल दिख रही है। यह इस बात का संकेत है कि अब बाजार व निवेशकों का झुकाव बी ग्रुप के शेयरों की तरफ हो रहा है। वैसे भी, भले ही हालात आपके खिलाफ हों, आपको अपनी जिंदगी कसकर रखनी होती है, उत्साह और उल्लास बनाए रखना होता है।

आदर्श इंसान वह है जो जीवन के हादसों का सामना साहस और दृढ़ता से करता है और हर प्रतिकूलता को अनुकूलता में बदल देता है। इन हालात से भी आगे बढ़ने का सबक निकाल लेता है।

(चमत्कार चक्री एक काल्पनिक नाम है। वह बाजार की रग-रग से वाकिफ है लेकिन फालतू के वैधानिक लफड़ों में नहीं उलझना चाहता। अंदर की बात बताना और सलाह देना उसका काम है। लेकिन निवेश का निर्णय पूरी तरह आपका होगा और चक्री किसी भी सूरत में इसके लिए जिम्मेदार नहीं होगा। यह कॉलम मूलत: सीएनआई रिसर्च से लिया जा रहा है)

Leave a Reply

Your email address will not be published.