चांदी में आखिरकार वही हुआ जिसका अंदेशा था। मामूली दरार अब खाईं बनती जा रही है। जिस चांदी को 165 फीसदी बढ़कर 75,000 रुपए प्रति किलो तक पहुंचने में 12 महीने लग गए थे, वह 12 दिनों में ही 28 फीसदी से ज्यादा गिर कर 53,750 रुपए प्रति किलो पर आ चुकी है। अब तो यही लगता है कि अगले 12 महीनों में हर मामूली बढ़त पर इसमें शॉर्ट सौदों का सिलसिला शुरू हो जाएगा। अगले 12औरऔर भी