हर कोई अधीर है। किसी को धैर्य नहीं। फटाफट नोट बनाने की पिनक है। दो-चार साल क्या, लोगबाग दो-चार महीने भी इंतजार करने को तैयार नहीं हैं। जो लोग लांग टर्म हैं, वे एफडी और पीपीएफ में लांग टर्म हैं। शेयर बाजार में तो वे भी शॉर्ट टर्म हैं। लोग कहने लगे हैं कि वॉरेन बफेट का जमाना लद गया। दुनिया का यह सबसे कामयाब निवेशक भी अपनी सोच बदल रहा है। मसलन, पहले बफेट टेक्नोलॉजी शेयरोंऔरऔर भी

करीब छह महीने पहले नवंबर में हल्ला उठा था कि 3आई इनफोटेक में वन-मैन आर्मी (केतन पारेख) ने एंट्री ले ली है। फिर जनवरी-फरवरी में इस खबर ने दोबारा जोश मारा कि आईसीआईसीआई बैंक 3आई इनफोटेक में अपनी पूरी की पूरी 20.33 फीसदी बेचने जा रहा है। ये दोनों ही सूचनाएं हमने सबसे पहले पेश कीं। अब बड़े बिजनेस चैनल ने सूत्रों के हवाले खबर दी थी कि 3आई इनफोटेक की हिस्सेदारी आईसीआईसीआई बैंक आईबीएम को बेचनेऔरऔर भी