गलत पर गलत तो सही कैसे होता

इनफोसिस के खराब नतीजे, औद्योगिक उत्पादन सूचकांक का कम रहना और दुनिया के बाजारों की खराब हालत, खासकर इटली पर घहराता ऋण संकट। इन सब नकारात्मक कारकों ने पूंजी बाजार के लिए आज के दिन को निराशा में डुबो डाला। इसका भरपूर असर निफ्टी पर दिखा। खुला ही करीब 60 अंक गिरकर। दिन के दौरान हालत बिगड़ती गई। नतीजतन बाजार में बड़े पैमाने पर बिकवाली हुई। निफ्टी कुल 89.95 अंक या 1.60 फीसदी की गिरावट के साथ 5526.15 पर बंद हुआ है।

असल में निफ्टी के 5610 के नीचे जाते ही स्टॉप लॉस ट्रिगर हो गया और मंदड़िए भी जमकर शॉर्ट सेलिंग पर उतारू हो गए। यह बाजार का वो स्तर है जहां बड़े मंदड़ियों ने इस सेटलमेंट के शुरू में अपने शॉर्ट सौदे काटे थे और बढ़ने की उम्मीद पालकर लांग हो गए थे। इसलिए एकदम स्वाभाविक था कि इससे नीचे पहुंचते ही वे फिर से अपनी पर उतर आते। खैर, आखिरकार वे कितने सफल होते हैं, यह तो आनेवाला वक्त ही बताएगा।

हाल-फिलहाल बाजार से रिटेल निवेशकों ने कन्नी काट रखी है। हर बढ़त पर एचएनआई (हाई नेटवर्थ इंजीविजुअल) निवेशक भी कैश बाजार में बिकवाली कर रहे हैं, एकदम डिलीवरी आधारित। टेक्निकल एनालिस्ट फिर से वही पुराना राग अलापने लगे हैं कि पक्के तौर पर रुख बदलने से पहले निफ्टी 4850 तक चला जाएगा।

वैसे, मैं इतना ज्यादा मंदी की धारणा नहीं रखता। मेरा तो यही मानना है कि भले ही ऊपर गिनाए गए तमाम कारकों के चलते आज भारी करेक्शन आया हो, लेकिन बाजार की अंतर्धारा इतनी मंदी की नहीं है।

ट्रेडरों को मेरी सलाह है कि 5615 को पार करते वे निफ्टी में जमकर खरीद करें। रिटेल निवेशकों से मेरा कहना है कि बाजार जब तक 5730 तक न पहुंच जाए, उन्हें इंतजार करना चाहिए। हालांकि हर गिरावट को खरीद के मौके के रूप में लिया जाना चाहिए, भले ही यह गिरावट लंबी खिंचती जाए। मेरी राय में यह गिरावट का आखिरी दौर है, जिसके बाद निफ्टी नए लक्ष्य की ओर कूच कर जाएगा।

किताबों से रहित कमरा वैसा ही होता है जैसे आत्मा के बिना शरीर।

(चमत्कार चक्री एक अनाम शख्सियत है। वह बाजार की रग-रग से वाकिफ है। लेकिन फालतू के कानूनी लफड़ों में नहीं उलझना चाहता। सलाह देना उसका काम है। लेकिन निवेश का निर्णय पूरी तरह आपका होगा और चक्री या अर्थकाम किसी भी सूरत में इसके लिए जिम्मेदार नहीं होंगे। यह मूलत: सीएनआई रिसर्च का फीस-वाला कॉलम है, जिसे हम यहां मुफ्त में पेश कर रहे हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *